भोपाल : देश में जहां एक ओर बीते करीब आठ दिनों से किसान आंदोलन का मुद्दा चर्चाओं में बना हुआ है तो वहीं बीते कई दिनों से लव जिहाद का मुद्दा भी सुर्ख़ियों में है. हाल ही में जब मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और कर्नाटक जैसे भाजपा शासित प्रदेशों ने लव जिहाद के ख़िलाफ़ कानून बनाने का ऐलान किया था तो इस पर सियासी जंग और भी तेज हो गई थी. उत्तर प्रदेश में तो योगी सरकार ने इसके लिए प्रस्ताव पास कर अध्यादेश को मंजूरी भी दे दी है और इसके तहत प्रदेश में काम भी होने लगा है. वहीं मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार भी लव जिहाद पर लगाम लगाने के लिए पूरी तरह से तैयार है और मध्यप्रदेश में भी इस पर काम जारी है. इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बड़ा बयान दिया है.

गुरुवार को एक बड़ा बयान देते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि, ”साफ सुन लो, सरकार सबकी है. सब जाति, सब धर्मों की, कोई भेदभाव नहीं है. लेकिन अगर बेटियों के साथ घिनौनी हरकत करने की कोशिश की तो तोड़ कर रख दूंगा. ये नहीं चलेगा. मैं जानता हूं ऐसी बेटियों की जिंदगी तबाह हो जाती है, बर्बाद हो जाती है. नरक बन जाती है, वह दर-दर की ठोकरें खाती हैं.”

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के नेता हमेशा ऐसे ही लव जिहाद का अविरोध करते रहे हैं और वे इस पर हर बहार काफी सख्त रवैया अपनाते हुए नज़र आते हैं. सीएम शिवराज सिंह भी प्रदश में लव जिहाद के ख़िलाफ़ कानून बनाने का ऐलान करने के बाद से इस मुद्दे पर लगातार बयाना देते रहे हैं.

सीएम शिवराज सिंह बुधवार को सीहोर जिले के बुदनी क्षेत्र में थे. इस दौरान उन्होंने एक जनसभा के संबोधित करते हुए लव जिहाद के तहत फायदा उठाने वालों को कड़े शब्दों में चेतावनी दी और उन्हें तोड़कर रख देने तक की बात कह दी. बढ़नी में जनसभा को सम्बोधित करने के दौरान शिवराज सिंह मेहद आक्रामक रुप में नज़र आए. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार किसी से दूर नहीं है. मैं सभी के साथ हूं. लेकिन अगर किसी ने कोई गड़बड़ की, धर्मांतरण का कुचक्र रचा, लव जिहाद जैसी चीज की तो तबाह हो जाओगे, बर्बाद हो जाओगे. ये मध्य प्रदेश में नहीं चलने देंगे.