मध्य प्रदेश में देश की सबसे पुरानी पार्टी को एक ओर बड़ा झटका लग गया है। प्रदेश के सागर जिले के पूर्व विधायक बृज बिहारी पटेरिया ने बीजेपी का हाथ पकड़ लिया है। उन्होंने शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी की सदस्या ग्रहण कर ली है। वही बुंदेलखंड अंचल से एक और कांग्रेस नेता के टूटकर बीजेपी में शामिल होने की घटना को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

कुछ महीने पहले सागर जिले के ही खुरई के पूर्व विधायक अरुणोदय चौबे ने भी कांग्रेस छोड़ दी है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिहं चौहान, भूपेंद्र सिंह और वीडी शर्मा समेत अन्य बीजेपी नेताओं ने पटेरिया को बधाई दी है।

पार्टी से नाराज चल रहे थे बृज बिहारी

बृज बिहारी पटेरिया ने शनिवार को बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली. वे कुछ दिनों से कांग्रेस पार्टी से नाराज चल रहे थे. बृज बिहारी पटेरिया 1998 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते थे। जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष रहे बृज बिहारी पटेरिया को 2013 में कद्दावर मंत्री गोपाल भार्गव ने सागर जिले की रहली सीट से 52 हजार वोटों से हराया था। पूर्व विधायक बृज बिहारी के भतीजे और बीजेपी नेता विनीत पटेरिया की पत्नी देवरी जनपद की अध्यक्ष है।

भूपेंद्र सिंह ने ट्वीट कर दी बधाई

मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बृज बिहारी पटेरिया के बीजेपी में शामिल होने पर ट्वीट पर बधाई दी है. भूपेंद्र सिंह ने लिखा, ‘सागर जिले की देवरी विधानसभा से कांग्रेस पार्टी के पूर्व विधायक बृज बिहारी पटेरिया जी आज भाजपा परिवार में शामिल हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व व नीतियों से प्रेरित होकर पटेरिया ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है।