Amitabh ने ऐसे की अपने दोस्त Amjad की मदद, दोस्ती का ये अनोखा किस्सा हो रहा वायरल

अमिताभ बच्चन ने इंटरव्यू में 1992 के उस पल के बारे में भी अपनी भावनाओं को व्यक्त किया, जब उन्हें पता चला कि अमजद खान इस दुनिया में नहीं रहे, उनके लिए यह यकीन कर पाना बहुत ही मुश्किल था।

मुंबई: अमिताभ बच्चन की आज अपनी दोस्ती को लेकर चर्चाओं में बने हुए है। जी हां ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे अमिताभ बच्चन ने सिर्फ फिल्मी पर्दे पर काम ही नही किया है बल्कि जिनसे भी दोस्ती की है उनके साथ दोस्ती को निभाया है, दोस्ती को जिया है। जी हां आज हम आपको अमिताभ बच्चन के खास दोस्त के बारे में बताने वाले है। जिनके साथ अमिताभ बच्चन के दोस्ती के चर्चे बहुत मशहूर रहे। दरअसल अनिताभ और अमजद की दोस्ती बहुत खास रही हैं , हालाकि अब अमजद इस दुनिया में नहीं है।

कहते है कि एक समय था जब अमिताभ बच्चन को ‘एंग्री यंग मैन’ के कैरेक्टर में देखा जाता था और यहां सिर्फ फिल्मी पर्देपर ही नहीं बल्कि कहते हैं कि टॉप एक्टर होने के कारण उन्हें कई लोग असल जिंदगी में भी इसी नाम से पुकारते थे। लेकिन एक समय ऐसा आया जब यह भ्रांति टूट गई और अमिताभ बच्चन का दूसरा रूप सबके सामने आया। जैसा कहते है कि जो दिखता है वह वैसा नहीं होता और अमिताभ के साथ भी ऐसा ही हुआ। अमिताभ बच्चन ने अपने दोस्त के लिए कुछ ऐसा ही किया था, जिसके बाद उनकी यंग मैन की छवि बदल गई।

Must Read- 

यह किस्सा 1979 का है जब अमिताभ बच्चन अपनी फिल्म ‘द ग्रेट गैम्बलर’ की शूटिंग के लिए गोवा पहुंचे थे। इस फिल्म में अमजद खान भी अहम भूमिका निभाने वाले थे। जिसके लिए अमजद अपने परिवार के सदस्यों के साथ बाय रोड मुंबई से गोवा के लिए निकले थे। अमजद से पहले बिग बी गोवा पहुंच गए थे लेकिन वहां उन्हें जो खबर मिली उसके बाद वह हैरान हो गए। दरअसल अमजद खान का रास्ते के भीषण सड़क हादसे का शिकार हो गए थे। पत्नी और बच्चो को पणजी के एक अस्पताल में पहुंचाया। जिसके बाद वो कोमा में चले गए थे। यह खबर मिलते ही अमिताभ बच्चन तुरंत अस्पताल के लिए रवाना हुए।

Must Read-Amitabh Bachchan ने शेयर की 44 साल पुरानी तस्वीर, लिखा – ‘क्या दिन थे वो भी!!’

एक्सीडेंट होने के कारण अमजद की पसलियां टूट गई थी और उनके फेफड़ों में भी छेद हो गया था। जिसके कारण वह ठीक से सांस नहीं ले पा रहे थे। जब अमिताभ बच्चन अस्पताल पहुंचे उन्होंने ये सब देखा। उस हालत में अमजद के लिए तुरंत सर्जरी जरूरी थी लेकिन प्रोडक्शन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति हॉस्पिटल के पेपर पर साइन करने के लिए तैयार नहीं था। तब अमिताभ बच्चन ने खुद सबकी जिम्मेदारी लेते हुए पेपर्स पर साइन किए। ताकि जल्द से जल्द ऑपरेशन हो सके, और सब की मेहनत रंग लाई और सर्जरी भी सफल हो गई। जिसके बाद अमिताभ बच्चन ने तुरंत ही गोवा से मुंबई पहुंचने के लिए चार्टर्ड फ्लाइट का भी इंतजाम किया और एक्टर की जान बच गई। सब कुछ बहुत अच्छे से हो गया। जिसके बाद इस पूरी घटना ने दोनों को बहुत करीब ला दिया और दोनों की दोस्ती बहुत मजबूत हो गई। साल 2016 में एक इंटरव्यू में अमिताभ बच्चन ने इस पूरे मामले का जिक्र करते हुए यह किस्सा सुनाया था।

अमिताभ बच्चन ने इंटरव्यू में 1992 के उस पल के बारे में भी अपनी भावनाओं को व्यक्त किया, जब उन्हें पता चला कि अमजद खान इस दुनिया में नहीं रहे, उनके लिए यह यकीन कर पाना बहुत ही मुश्किल था। कि उनका करीबी दोस्त इस दुनिया में नहीं है बिना देर किए एक्टर के घर पहुंचे, कुछ समय वह अविश्वास के भाव में ही रहे। अमजद खान के इस दुनिया से जाने के बाद उनके लिए भावनात्मक रूप से काफी मुश्किल हो रहा था। क्योंकि उनके लिए यह बहुत ही इमोशनल मोमेंट था। जिससे उभर पाना बहुत ही मुश्किल था, अपने करीबी दोस्त को यूं खो देना, अपनी जिंदगी का एक हिस्सा को देने जैसा लग रहा था।