Homeगैजेट्सएयरटेल पेमेंट्स बैंक ने एमपी के 9000 दूरदराज के गांवों तक पहुंचाई...

एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने एमपी के 9000 दूरदराज के गांवों तक पहुंचाई बैंकिंग सेवाएं

एयरटेल पेमेंट्स बैंक मध्य प्रदेश के वित्तीय समावेशन में योगदान के लिए दूर-दराज इलाकों में स्थित गांवों की तरफ कदम बढ़ाते हुए तेजी से विस्तार कर रहा है...

भोपाल : एयरटेल पेमेंट्स बैंक मध्य प्रदेश के वित्तीय समावेशन में योगदान के लिए दूर-दराज इलाकों में स्थित गांवों की तरफ कदम बढ़ाते हुए तेजी से विस्तार कर रहा है ताकि बैंकिंग सेवाओं को इन गांवों तक पहुंचाया जा सके जहां यह नहीं या दूर दराज स्थित थी। 9,000 से अधिक दूरदराज के गांव अब एयरटेल पेमेंट्स बैंक के आस-पास स्थित बैंकिंग प्वाइंट्स के माध्यम से वित्तीय सेवाओं तक पहुंचने में सक्षम हैं।

इससे पहले इन गांवों के अधिकांश निवासियों के पास कोई बैंक खाता नहीं अथवा उन्हें नजदीकी बैंक शाखा तक पहुंचने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती थी। इन गांवों और इनके आसपास एयरटेल पेमेंट्स बैंक के बैंकिंग प्वाइंटकी मदद सेवित्तीय सेवाएं अब निवासियों के करीब उपलब्ध हैं। इन गांवों में ग्राहकों का बैंक में बचत खाता है। जिससे उनके पैसे की सुरक्षा भी है क्योंकि उन्हें अब घर पर नकदी रखने की आवश्यकता नहीं है और वे अपने बचत खाते में जमा राशि पर ब्याज भी अर्जित कर सकते हैं।

एयरटेल पेमेंट्स बैंक के माध्यम से ग्राहक आधार सक्षम भुगतान, इंश्योरेंस व सरकारी पेंशन योजना जैसी कई वित्तीय सेवाओं का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। एयरटेल पेमेंट्स बैंक का यह अनोखारीटेल बेस्ड मॉडल ग्राहकों के लिए बैंकिंग को और अधिक आसान बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। हमारी बैंकिंग सेवाएं पूरी तरह से पेपरलेस हैं और इन्हें मोबाइल फोन या रिटेल टचप्वाइंट के माध्यम से एक्सेस करना बहुत आसान है, जो एटीएम के रूप में भी कार्य करती हैं।

एयरटेल पेमेंट्स बैंक के मुख्य परिचालन अधिकारी, श्री गणेश अनंतनारायणन ने कहा, “एयरटेल पेमेंट्स बैंक को लेकरहमारा मिशन सुव्यवस्थित बैंकिंग व्यवस्था को हर भारतीय के घर तक ले जाना है। हमें मध्य प्रदेश के इन दूरदराज गांवों को सक्षम बनाने और उन तक बैंकिंग सुविधा पहुंचाने में प्रसन्नता हो रही है। इन गांवों के 37,000 से अधिक निवासियों का अब हमारे पास बैंक खाता है। हम लोगों को सुव्यवस्थित बैंकिंग के लाभों के बारे में शिक्षित करने और इसे अपनाने व प्रेरित करने के लिए इन गांवों में नियमित रूप से शिविर आयोजित कर रहें हैं।”

 

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular