दिल्ली चुनाव में बचे 668 प्रत्याशी, केजरीवाल को मिलेगी 27 से टक्कर

0
Arvind Kejriwal

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने मैदान पकड़ लिया है। दिल्ली में आम आदमी पार्टी, भाजपा और कांग्रेस में त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिलेगा। इधर, 70 विधानसभा सीट के लिए नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के बाद स्थिति साफ हो गई है। नाम वापसी के बाद अब चुनाव मैदान में 668 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। इसमें सबसे अधिक उम्मीदवार नई दिल्ली सीट पर है। इस सीट पर मुख्यमंत्री अरिवंद केजरीवाल चुनाव लड़ रहे हैं, उन्हें 27 उम्मीदवार टक्कर देंगे।

गौरतलब है कि दिल्ली के इतिहास में पहली बार विधानसभा चुनाव के लिए रिकाॅर्ड तोड़ नामांकन जमा हुए हैं। दिल्ली के पहले विधानसभा चुनाव 1952 को छोड़ दिया जाए तो बीते 27 वर्ष में कभी भी इतने पर्चे दाखिल नहीं हुए। 21 जनवरी तक चुनाव आयोग को 1473 नामांकन पत्र जमा हुए थे। हालांकि जांच और नाम वापसी के बाद 668 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चुनाव आयोग ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी कर दी है। नई दिल्ली विधानसभा सीट पर सबसे ज्यादा प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं।

इस बहुचर्चित सीट से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अलावा 27 अन्य उम्मीदवार मैदान में हैं। चुनाव आयोग के मुताबिक दिल्ली 70 सीटों वाली विधानसभा के लिए कुल 668 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। सबसे ज्यादा 28 उम्मीदवार नई दिल्ली सीट से हैं, जबकि सबसे कम 4 उम्मीदवार पटेल नगर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली में 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है, जिसके नतीजे 11 फरवरी को आएंगे। इधर, दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी, कांग्रेस और भाजपा में त्रिकोणीय मुकाबला है। पिछले चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 सीटों में से 67 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जबकि भाजपा को तीन और कांग्रेस की झोली खाली रह गई थी।