वाराणसी स्थित सुप्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) के गेट नंबर- 4 के पास से झारखंड के गिरिडीह के रहने वाले तीन संदिग्ध युवकों को गिरफ्तार किया गया है।सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार ये तीनों संदिग्ध मंदिर परिसर मे प्रवेश कर चुके थे। इनमें से दो संदिग्ध युवक अन्य समुदाय (मुस्लिम) के बताए जा रहे हैं। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के दरोगा के द्वारा तीनो को मंदिर के ईस्ट गेट से पकड़ा। काशी विश्वनाथ धाम के गेट नंबर 4 से तीन संदिग्ध युवकों को काशी विश्वनाथ धाम के पूर्वी द्वार से पकड़ने के बाद चौक पुलिस के हवाले कर दिया गया है। जहां प्रारम्भिक पूछताछ में पता चला है कि तीनों युवक झारखंड के गिरिडीह के रहने वाले हैं।

Also Read-Rajasthan: प्रसिद्ध खाटूश्यामजी मंदिर के दर्शन आज रात 10 बजे से अनिश्चित काल के लिए बंद, दर्शन व्यवस्था सुधारने के लिए लिया गया फैसला

जाँच में जुटीं सुरक्षा एजेंसियां

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार झारखंड के गिरिडीह के रहने वाले तीन संदिग्ध युवकों से अब पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां सयुक्त रूप से पूछताछ कर रही हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए चौक थाने में आईबी व अन्य सुरक्षा एजेंसियां इन तीनों संदिग्धों से कड़ी पूछताछ कर रही है । पकड़े गए संदिग्धों में से दो युवक मुस्लिम समुदाय के बताए गए हैं इसलिए इस मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है । जानकारी के अनुसार गिरफ्तार किए गए इन तीनों संदिग्धों के पास से कोई संदिग्ध वस्तु या विस्फोटक नहीं मिला है।

Also Read-Udaipur में Railway Bridge पर हुआ Blast था आतंकी साजिश, Super Power 90 Detonators का किया गया था इस्तेमाल

ज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी मामले पर वाराणसी कोर्ट का अहम फैसला आने वाला है

वाराणसी स्थित सुप्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) के गेट नंबर- 4 के पास से झारखंड के गिरिडीह के रहने वाले तीन संदिग्ध युवकों को गिरफ्तार किये जाने की घटना ऐसे समय पर हुई है जोकि इस घटना को और भी अधिक संदिग्ध बनाता है। दरअसल वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद-श्रृंगार गौरी मामला लगातार सुर्ख़ियों में है और साथ ही आज 14 नवंबर को इस केस में कोई महत्वपूर्ण फैसला आने की भी उम्मीद है। ऐसे समय में अन्य समुदाय के वाराणसी से बाहर के युवकों का काशी विश्वनाथ मंदिर में प्रवेश करना, निःसन्देह ही इस मामले को संदिग्ध बनाता है।