अमेरिकी रिपोर्ट का दावाः लश्कर-जैश में भर्ती और फंडिग पर रोक लगाने में विफल रहा पाक

0
179

अमेरिका ने शुक्रवार को आतंकवाद को लेकर जारी सालाना रिपोर्ट में दावा किया है कि पाकिस्तान आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद को फंड जुटाने और भर्ती करने की क्षमता को कम करने में असफल रहा है। साथ ही पाक ने इन आतंकी संगठनों से जुड़े लोगों को को चुनाव लड़ने की अनुमति भी दी।

बता दे कि इस रिपोर्ट में ने वित्तीय कार्रवाई कार्यबल की शर्तें लागू करने के लिए पाकिस्तान द्वारा किए गए प्रयासों का जिक्र किया गया है। रिपोर्ट में यं भी कहा गया है पाकिस्तान लशकर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद पर संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को लागू करने में विफल रहा है। ये आतंकी संगठन लगातार फंड जुटा रहे हैं।

रिपोर्ट कहा गया है कि वैश्विक स्तर पर ईरान आतंकवाद को लेकर विश्व में सबसे खराब राज्य प्रायोजक है। अलकायदा अब भी मौजूद है और उसका मकसद अंतर्राष्ट्रीय स्तर खुद को जिहादी आंदोलन के तौर स्थापित करना है।

रिपोर्ट में लश्कर और जैश का हवाला देते हुए बताया कि ये आतंकी संगठन 2018 में खतरा बने रहे। साथ ही उन्हाने भारत और अफगान के ठिकानों पर हमला करने की क्षमता और इरादे को बनाए रखा है। इसमें जैश की ओर से फरवरी में भारतीय सेना के सुंजुवन स्थित कैंप पर किए गए हमले का भी जिक्र है। गौर हो इस हमले में जिसमें सात जवान शहीद हो गए थे।

पाकिस्तान और उसके साथी देशों ने आश्वासनों के विपरीत इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। अमेरिका ने कहा, सरकार पाकिस्तान में पैसा जुटाने, भर्ती करने और प्रशिक्षण देने से लश्कर और जैश को सीमित करने में विफल रही है। पाकिस्तान ने उन उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने की मंजूरी दी जो लश्कर से संबंध रखते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here