सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के रेती इलाके में कथित संत राम रहीम के रिकार्डेड सतसंग का कार्यक्रम चल रहा था, इसी दौरान किसी से सुचना प्राप्त करके विश्व हिन्दू परिषद और बजरंगदल के कार्यकर्ता वहां पहुंच गए और जम कर हंगामा किया और इस कार्यक्रम को बंद कराने की जिद पर अड़ गए। इस दौरान विश्व हिन्दू परिषद और बजरंगदल के कार्यकर्ताओं के द्वारा राम रहीम के खिलाफ नारेबाजी की गई और साथ ही वहां पर लगे डेरा सच्चा सौदा और राम रहीम के पोस्टर्स और बैनर्स को भी फाड़ कर फेंक दिया।

Also Read-बंसल ग्रुप के कई ठिकानों पर आयकर विभाग का छापा, भोपाल, मंडीदीप और महू में जारी है एक्शन

40 दिन की पैरोल पर है राम रहीम

ज्ञातव्य है कि कथित आध्यात्मिक संगठन डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम पिछले 5 सालों से जेल में बंद है। उल्लेखनीय है कि राम रहीम पर यौन शोषण, पूर्व पत्रकार रामचंद्र छत्रपति और डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक रणजीत सिंह की हत्या के मामले चल रहे हैं, जिसके कारण पिछले पांच सालों से वो जेल में बंद है। उल्लेखनीय है कि राम रहीम फीलहाल 40 दिन की पैरोल पर जेल से बाहर आया हुआ है। सूत्रों के अनुसार जेल में राम रहीम के अच्छे आचरण को देखते हुए दीवाली के पूर्व 15 अक्टूबर को उसे जेल से 40 की पैरोल पर रिहा किया गया है।

Also Read-UN: संयुक्त राष्ट्र डिबेट में पाकिस्तान ने उठाया कश्मीर मुद्दा, भारत ने समझाया ‘हिंदी’ में

बिना अनुमती हो रहा था कार्यक्रम

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के शाहजहाँपूर जिले के एक इलाके में राम रहीम का यह रिकार्डेड सतसंग का कार्यक्रम बिना अनुमति के किया जा रहा था। विश्व हिन्दू परिषद और बजरंगदल के कार्यकर्ताओं के द्वारा इस कार्यक्रम की सुचना मिलने पर यहां पर पहुंचकर पहले तो काफी हंगामा किया गया और उसके बाद नजदीकी पुलिस थाने में फोन लगा कर इस कार्यक्रम को बंद कराने का आग्रह किया, जिसके बाद वहां पहुंची पुलिस ने इस बिना अनुमति के चल रहे कार्यक्रम को तुरंत बंद करा दिया।