UP: टिकट न मिलने पर फूट-फूटकर रोए BSP नेता, दी आत्महत्या की धमकी

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव (UP Assembly Election) के लिए सभी पार्टियों की तैयारी जोर-शोर से चल रही है। एक ओर जहां बीजेपी में विधायक और मंत्रियों के इस्तीफे देने का सिलसिला जारी है वहीं दूसरी ओर बहुजन समाज पार्टी (BSP) की हालत भी कुछ ज्यादा अच्छी नहीं आ रही है। बता दें कि, बसपा टिकट की बिक्री का मामला थाने तक पहुंच गया है। दरअसल, मामला मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) के थाना नगर कोतवाली क्षेत्र का है, जहां चरथावल विधान सभा क्षेत्र के बसपा प्रभारी अरशद राणा (Arshad Rana) गुरुवार की देर शाम थाना नगर कोतवाली पहुंचे।

ALSO READ: Online Fraud : क्राइम ब्रांच इंदौर ने मात्र 20 घंटे में दिलाई ठगी राशि वापस

जिसके बाद कोतवाली प्रभारी निरीक्षक आनंद देव मिश्र को शिकायत देते हुए वो फूट-फूट कर रोने लगे। अरशद राणा ने कहा कि, ’18 दिसंबर 2018 को जिला कार्यालय मुजफ्फरनगर पर जनपद के विधान सभा सीटों के प्रभारी नियुक्त होने थे। इससे एक-दो दिन पहले बसपा (BSP) के पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी शमशुद्दीन राईन ने कहा कि तुमको चरथावल विधानसभा सीट पर प्रत्याशी नियुक्त करेंगे। इसके लिए तुम्हे कुछ रुपये देने होंगे, जिसके लिए मैं तैयार हो गया था।’

साथ ही अरशद राणा (Arshad Rana) ने बताया कि इसके बाद तय तारीख को पार्टी कार्यालय पर सहारनपुर मंडल के मुख्य कॉर्डिनेटर नरेश गौतम, पूर्व मंत्री प्रेमचंद गौतम, सत्यप्रकाश, कार्डिनेटर एवं तत्कालीन जिलाध्यक्ष मुजफ्फरनगर सतपाल कटारिया आदि की मौजूदगी में बसपा पार्टी के मंच पर साल 2022 का विधान सभा चुनाव लड़ाने के लिए प्रत्याशी घोषित कर दिया गया। साथ ही पूरा-पूरा आश्वासन दिया गया था कि अपने क्षेत्र में जाकर अपना काम करो।

अरशद राणा (Arshad Rana) ने आगे कहा कि, ‘विधान सभा क्षेत्र का प्रत्याशी नियुक्त करने के लिए 4 लाख 50 हजार रुपये और फिर 50 हजार रुपये लिए गए। इसके बाद 15–15 लाख रुपये के तीन किस्त लिए गए।’ अरशद ने आगे कहा कि, ‘इसके बाद भी थोड़े-थोड़े करके 17 लाख रुपये पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी शमशुद्दीन राईन ने सतपाल कटारिया और नरेश गौतम की मौजूदगी में लिए थे। उन्होंने पूरा-पूरा विश्वास दिलाया कि तुम्हे ही चरथावल विधान सभा सीट पर प्रत्याशी नियुक्त किया गया है और आप जी-जान से मेहनत में जुट जाओ।’

राणा ने आरोप लगाया कि, ‘अब चुनाव की तारीख घोषित होने पर मैंने बसपा जिलाध्यक्ष सतीश कुमार से चरथावल विधान सभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए पार्टी से टिकट मांगा तो उन्होंने कहा कि तुम्हे और 50 लाख रुपये की व्यवस्था करनी पड़ेगी, जिसके लिए हामी भर दी थी, लेकिन इसके वावजूद चरथावल विधान सभा पर सलमान सईद को प्रत्याशी घोषित कर दिया गया।’

वहीं बसपा नेता अरशद राणा की शिकायत पर इंस्पेक्टर आनंद देव मिश्रा ने मामले की जांच कर कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। मीडिया से बातचीत के दौरान अरशद राणा (Arshad Rana) ने कहा कि अगर इंसाफ नहीं मिला तो वह लखनऊ (Lucknow) स्थित बसपा कार्यालय जाकर आत्महत्या कर लेंगे।