Uma Bharti ने फिर उठाया शराब बंदी का मुद्दा, बोली- पत्थरबाजी तो सिर्फ शुरुआत है

uma bharti

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Uma Bharti) अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में बनी रहती है। हाल ही में उनका एक वीडियो वायरल (Viral Video Of Uma Bharti) हुआ था जिसमे उन्होंने शराब की दुकान में घुसकर पत्तर से बोतले तोड़ी थी। जिसके बाद अब इसी पर उनका एक बयान सामने आया है। उन्होंने एक बार फिर शराब बंदी पर खुलकर बोला है और जनप्रतिनिधियों को सतर्क रहने की जरूरत बताई है। उमा भारती ने कहा कि, शराब दुकान पर उठाया गया पत्थर एक चेतावनी थी और यह तो अभी शुरुआत है। उन्होंने कहा कि, जनप्रतिनिधियों को जिम्मेदारी निभाएं नहीं तो बड़ा जन आंदोलन का रूप ले लेगा।

ALSO READ: UP में फिर लौटे बुलडोजर बाबा, सर्वसम्मति से चुने गए विधायक दल के नेता

आपको बता दें कि, बीजेपी नेता उमा भारती (Uma Bharti) ने यह बयान निवाड़ी में दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि पत्थर जो उठाया गया है वह प्रतीक है और पहला है आखिरी नहीं है। अगर उसे आखिरी बनाना है तो शराब के मामले में जनप्रतिनिधियों को बहुत अच्छा काम करना होगा। साथ ही उमा भारती ने कहा कि, पार्षदों, नगर पालिका, नगर पंचायत, नगर निगम के अध्यक्षों और विधायकों को सतर्कता बरतनी होगी। साथ ही उन्होंने सख्त रुख अपनाते हुए कहा कि, नीचे के जनप्रतिनिधि इसकी अनदेखी बिलकुल नहीं करें वे अपनी जिम्मेदारी निभाएं नहीं तो यह बड़ा जन आंदोलन का रूप ले लेगा।

ALSO READ: CM Shivraj का ऐलान, पूरी दुनिया में एक्सपोर्ट किया जाएगा गेंहू, किसानों को होगा फायदा

आपको बता दें कि, प्रदेश में शराब बंदी को लेकर उमा भारती (Uma Bharti) ने कई बार अपना आक्रोश दिखाया है। हाल ही में उन्होंने इसके खिलाफ आक्रामक तेवर दिखाए थे। उन्होंने प्रदेश राजधानी भोपाल के ग्रामीण क्षेत्र तरावली मंदिर के पास स्थित एक शराब की दुकान में बोतले फोड़ी थी। साथ ही बाहर खड़े लोगो से उन्होंने राय ली। जिसके बाद इस मामले में भारती ने सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan)  से मुलाकात की थी। उमा भारती इस पत्थरबाजी को एक चेतावनी बता रही है।