UIDAI ने सिक्योरिटी सिस्टम चेक करने के लिए हैकर्स को किया आमंत्रित, शुरू किया बग बाउंटी प्रोग्राम

UIDAI ने अपने 132 करोड आधार कार्ड यूजर्स के डेटा की सुरक्षा को जांचने के लिए 20 हैकर्स को इनवाइट किया है.

Aadhaar Card: सबसे जरूरी डॉक्यूमेंट बन चुके आधार कार्ड को लेकर समय-समय पर एक्सपर्ट, विपक्षी पार्टियां और सिक्योरिटी रिसर्च सवाल उठाते दिखाई देते हैं. इसको लेकर यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया यूजर्स को सिक्योरिटी संबंधित जानकारी देते हुए आश्वस्त करती दिखाई देती है. हाल ही में खबर आई है कि UIDAI ने अपने यूजर्स के डाटा को सुरक्षित रखने वाले प्रणाली की टेस्टिंग के लिए टॉप हैकर्स को आमंत्रित किया है.

UIDAI ने एक Bug Bounty Programme शुरू किया है जिसके लिए देश भर से 20 टॉप हैकर को बुलावा भेजा गया है. आधार डाटा को सुरक्षित रखने के संबंध में उपयोग की जा रही प्रणाली को लेकर लंबे समय से सवाल उठाए जा रहे थे. इसी के चलते यह प्रोग्राम आयोजित करते हुए हैं हैकर्स को सिक्योरिटी सिस्टम में खामियां निकालने के लिए चैलेंज दिया गया है.

Must Read- पैन कार्ड चोरी हो जाने पर आसानी से वापस बनवाए, करें बस ये काम

इस प्रोग्राम के तहत 20 हैकर्स को UIDAI के सेंट्रल आईडेंटिटी डाटा रिपोजिटरी सिस्टम (CIDR) को एनालिसिस करने का मौका दिया जाएगा. यह सिस्टम 132 करोड़ भारतीयों का डाटा स्टोर करके रखता है. एजेंसी की ओर से जारी की गई सूचना में यह कहा गया है कि हैकर्स का नाम HackerOne, Bugcrowd जैसे बग बाउंटी लीडर्स बोर्ड के टॉप 100 में शामिल होना चाहिए या Microsoft, Google, Facebook या Apple जैसी प्रतिष्ठित कंपनियों की ओर से रखे गए बाउंटी प्रोग्राम में लिस्टेड होना जरूरी है.

बाउंटी प्रोग्राम में हिस्सा लेने वाले हैकर्स को UIDAI के एक नॉनडिस्क्लोजर समझौते पर हस्ताक्षर कर उसके नियम कायदों को मानना होगा. UIDAI ने यह भी बताया है कि भांग के प्रोग्राम में भाग लेने वाले हैं कल का आधार कार्ड होना जरूरी है और वह भारत के निवासी होना चाहिए. UIDAI ने यह भी बताया है कि अगर 20 से ज्यादा आवेदन आते हैं, तो उपयुक्त उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा.