एसोसिएशन ऑफ इंदौर मैराथनर्स (Association of Indore Marathoners) द्वारा स्वास्थ्य और आहार से जुड़ा कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में अमेरिका के न्यूट्रिशन एक्सपर्ट ललित कपूर ने दिए स्वस्थ रहने के टिप्स साझा किए, वे कानपुर आईआईटी से 1971 के पासआउट हैं और इन दिनों अमेरिका के कैलिफोर्निया में रहकर न्यूट्रिशन एक्सपर्ट के रूप में लोगों को गाइड करते हैं।। इस अवसर पर उन्होंने वीगन डाइट फॉलो करने पर जोर दिया , साथ ही कहा की सभी तरह के प्रोटीन और विटामिन्स वाला आहार लेने पर ही संभव है सही पोषण। इसके साथ ही डायबिटीज, बीपी और मोटापे को दूर रखने के लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग करने की सलाह भी दी है , जिसके लिए कहा है कि इस फास्टिंग के दौरान 24 में से 14 से 16 घंटे कुछ भी नहीं खाएं।

Also Read-Congress President Election : मल्लिकार्जुन खड़गे, शशि थरूर, के एन त्रिपाठी ने दाखिल किया नामांकन, ‘दिग्गी राजा’ हुए रेस से बाहर

मिल्क प्रोडक्ट के सेवन से बचना चाहिए

कार्यक्रम में अमेरिका के न्यूट्रिशन एक्सपर्ट ललित कपूर ने बताया कि अच्छी सेहत के लिए भरपूर मात्रा में दूध, घी, मक्खन से प्रोटीन लेने की धारणा है लेकिन ज्यादा मात्रा में प्रोटीन का सेवन भी घातक बीमारियों का शिकार बना सकता है। आवश्यकता के अनुसार ही प्रोटीन और विटामिन्स लिए जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर आप 24 घंटे में 2000 कैलोरी वाला भोजन करते हैं तो इसमें प्रोटीन 7 प्रतिशत से ज्यादा नहीं होना चाहिए। अच्छे स्वास्थ्य के लिए वीगन डाइट (एनिमल फ्री प्रोडक्ट) का फॉलो किया जाना चाहिए।

Also Read-7th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों को ‘दीवाली का तोहफा’, DA में 4 फीसदी बढ़ोतरी का हुआ ऐलान

कैंसर सर्जन डॉ. अरूण अग्रवाल ने की कार्यक्रम की अध्यक्षता

कार्यक्रम की अध्यक्षता कैंसर सर्जन डॉ. अरूण अग्रवाल ने की और इंटरमिटेंट फास्टिंग के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि इस तरह की फास्टिंग
का बड़ा फायदा है कि गंभीर बीमारियां जिसमें कैंसर, डायबिटीज़, हृदय रोग आदि से भी बचा जा सकता है और पहले से हो चुकी बीमारियों को भी नियंत्रित किया जा सकता है। डॉ. भरत रावत ने भी डाइट और व्यायाम के महत्व पर प्रकाश डालते हुए विभिन्न पहलुओं के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम का समन्वय सुश्री कनिका भंडारी ने किया। संचालन एआईएम के सचिव एवं सहायक आयुक्त (राज्य कर) श्री विजय सोहनी ने किया और आभार एआईएम उपाध्यक्ष श्री विशाल मुद्गल ने माना।

अपने वजन के मुताबिक खाएं फल और सब्जी

उन्होंने बताया कि अपने वजन के मुताबिक 10 प्रतिशत सब्जी और 10 प्रतिशत फल खाएं श्री कपूर ने कहा कि जितना भी आपका वजन हो, उसके 10 प्रतिशत वजन के बराबर फल का सेवन रोज करें। जबकि हर रोज 10 प्रतिशत सब्जियों का सेवन भी किया जाना चाहिए। हडि्डयों की मजबूती और शारीरिक विकास के लिए व्यायाम बेहद जरूरी है। हर रोज वॉकिंग (पैदल चलना) की जाना चाहिए ताकि हडि्डयों परप्रेशर बने और उन्हें मजबूती मिल सके।

जंक फूड, तले-गले खाद्य पदार्थों से बचे

न्यूट्रिशन एक्सपर्ट ललित कपूर ने बताया कि निरोगी रहने के लिए सात्विक आहार लेना बेहद जरूरी है। जंक फूड और बाहर का तला-गला खाना बंद कर दिया जाना चाहिए। रेडी फूड प्रोडक्ट्स की इंडस्ट्री करोड़ों रुपए रोज का टर्न ओवर करती है और मुनाफा कमाने के लिए वे फूड प्रोडक्ट्स में ऐसे इनग्रिडिएंट्स मिलाते हैं जो खाने की लालसा को बढ़ाते हैं जिससे हममें लत पैदा होती है। उदाहरण के लिए इसे इस तरह समझा जा सकता है कि घर पर तली हुई चंद आलू चिप्स खाकर हम तृप्त हो जाते हैं जबकि पैक्ड चिप्स खाने पर हमें ज्यादा भूख महसूस होने लगती है।