तोमर ने BJP को बताया दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी

बुरहानपुर। मध्य प्रदेश में खंडवा लोक सभा क्षेत्र के अंतर्गत बुरहानुपर व नेपानगर में सभी मंडलों के बूथ अध्यक्षों एवं पार्टी पदाधिकारियों-कार्यकर्ताओं का आज सम्मेलन हुआ। इस दौरान केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के मुख्य आतिथ्य में हुआ। इसमें तोमर ने कहा कि आज हम गर्व से कह सकते है कि हम जिस पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता है, वह दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है। उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं से डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी एवं पं. दीनदयाल उपाध्याय के सिद्धांतों के अनुरूप पार्टी को और सर्वव्यापी व ताकतवर बनाने का आग्रह किया। तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दुनिया में भारत की साख बढ़ी है।

सम्मेलन के दौरान तोमर ने कहा कि BJP व कांग्रेस कार्यकर्ताओं में मौलिक अंतर है। कांग्रेसी राजनीति में खुद के लिए, पैसे, गुट व अपने लाभ के लिए काम करता है लेकिन भाजपा कार्यकर्ता विचार, देश, विकास व गरीबों के उत्थान के लिए काम करते हैं। डॉ. मुखर्जी ने धारा 370 समाप्त करने की मांग वर्ष 1953 में उठाई थी, वहीं अटल बिहारी वाजपेयी ने भी लोकसभा में कहा था कि जिस दिन हमें बहुमत मिलेगा, हम धारा 370 हटाएंगे व भारी बहुमत मिलते ही पीएम मोदी ने धारा 370 हटाने का काम किया।

उन्होंने कहा कि यह भाजपा की कथनी और करनी में एकरूपता का स्पष्ट प्रमाण है। जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे, तब उनकी विदेश यात्राओं में कोई हलचल नहीं होती थी लेकिन आज जब मोदी जी किसी भी देश में जाते हैं तो वहां का हर व्यक्ति टीवी पर टकटकी लगाकर देखता है कि हिन्दुस्तान का शेर आया है। एक समय था जब अमरीका मोदी जी को वीजा देने को तैयार नहीं था, आज वही लाल कालीन बिछाकर मोदी जी का स्वागत करने को आतुर रहता है। वैक्सीन के लिए भी मोदी जी ने बहुत मेहनत की और नौ माह के भीतर वैक्सीन लगाने का काम भी शुरू हो गया था। अगर पीएम मोदी का नेतृत्व नहीं होता तो जिस तरह दूसरे देश वैक्सीन लगवाने के लिए खड़े हैं, शायद वैसे ही हम भी खड़े होते।

सम्मेलन के दौरान उन्होंने, केंद्र व म.प्र. में भाजपा सरकार की किसान हितैषी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा ने सिर्फ विकास किया है, गरीबों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने का काम किया है, खेती-किसानी को आगे बढ़ाया और रोजगार के नए अवसर सृजित किए हैं। तोमर ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और श्री कमलनाथ को लेकर सवाल उठाया कि वे खराब भाषा का उपयोग क्यों कर रहे है। तोमर ने कहा कि जिनके पास कोई उपलब्धि नहीं होती तो वे फिर इस प्रकार से केवल शब्दों के माध्यम से अपना अस्तित्व बचाने की कोशिश करते हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के रहते कोई उपलब्धि हासिल नहीं की गई थी, बल्कि जनहितैषी योजनाएं बंद कर दी गई थी। संबल योजना बंद करके गरीब की लाश से कफन खींचने का काम कमलनाथ सरकार ने किया और फिर इसका परिणाम भी भोगा। कांग्रेस सरकार अपने ही बोझ से चरमरा गई और फिर भाजपा की सरकार बन गई। अब राज्य व केंद्र दोनों सरकारें जनहित के काम कर रही हैं। इस दौरान म.प्र. के मंत्री श्री तुलसी सिलावट व श्री इंदरसिंह परमार सहित कई नेता-कार्यकर्ता मौजूद रहे।