Indore। मध्यप्रदेश के इंदौर में आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आज आखिरी दिन है। ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में चल रहे दो दिवसीय ग्लोबल इनवेस्टर समिट में भाग लेने आए उद्योगपतियों ने मध्यप्रदेश में निवेश का वादा भी किया है। सरकार को उम्मीद है कि छह लाख करोड़ से ज्यादा का निवेश होगा। आज निवेश के विभिन्न विषय पर सत्र होंगे।

ग्लोबल इन्‍वेस्टर्स समिट के पहले दिन यानी बुधवार को ही करोड़ों रुपये के निवेश का प्रस्‍ताव मिला है। समिट के पहले दिन हेल्थ और फार्मा सेक्टर पर फोकस रहा। कैप्सूल बनाने वाली एशिया की सबसे बड़ी कंपनी एसीजी ग्रुप पीथमपुर में करीब 500 करोड़ का निवेश करेगी। इसके साथ ही कैप्सूल बनाने वाली ये दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी बन जाएगी। इससे प्रदेश में बड़ी संख्‍या में रोजगार के अवसर पैदा होने की भी संभावना है। बुधवार को मंच से ही एक लाख करोड़ के निवेश के प्रस्ताव आए।

Also Read – हरियाणा: घर में सिलेंडर फटने से एक ही परिवार के 6 लोग जिंदा जले

आज दोपहर 12 के बाद से अगले समानांतर सत्र (parallel session) होंगे। जिनमें प्रमुख रूप से भारत की 5 ट्रिलियन की इकॉनामी में मध्य प्रदेश का योगदान एयरो स्पेस, डिफेंस भारत में मैन्युफैक्चरिंग को गति देने में मध्य प्रदेश का योगदान और शिक्षा और कौशल विकास पर निवेशकों के बीच चर्चा होगी। उसके बाद दोपहर 2 से 3 बजे के बीच विशेष सत्र में मध्य प्रदेश में स्टार्ट-अप के लिये अनुकूल वातावरण पर चर्चा की जाएगी।

कृष्णा फॉस्केम लिमिडेट के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की। कंपनी ने झाबुआ जिले के मेघ नगर में 200 हेक्टेयर भूमि पर खाद का प्लांट बनाने की पेशकश की है। कंपनी पांच हजार करोड़ का निवेश करेगी। प्लांट में अमोनिया, यूरिया व अन्य उर्वरक उत्पाद बनाए जाएंगे।

अदाणी समूह ने 60 हजार करोड़ के निवेश की घोषणा की है। रिलायंस ने 40 हजार करोड़ और आदित्य बिड़ला समूह ने 15 हजार करोड़ की घोषणा की। जानकारी के लिए आपको बता दे कि इंदौर में दो दिवसीय चल रहे ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। इस समिट में करीब 84 देशों के 431 इन्वेस्टर्स शामिल होने पहुंचे थे।

Also Read – MP News : पर्यटन में निवेश के लिए मध्यप्रदेश में अपार संभावनाएं – सीएम शिवराज सिंह