जिनमें युद्ध की क्षमता नहीं, वो एकता को ललकार रहे हैं : पीएम मोदी

0
38

नई दिल्ली। देशभर में 31 अक्टूबर को लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती मनाई जा रही है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के केवड़िया में स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर पहुंचें, जहां उन्होंने सरदार पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद पीएम मोदी ने एकता दिवस परेड में हिस्सा लिया और केवड़िया सिविल सर्विस के प्रशिक्षुओं के साथ चर्चा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल का सपना साकार हुआ है। उन्होंने लोगों से देश की एकता बनाए रखने अपील भी की है। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए हर नागरिक को धन्यवाद देता हूं। भारत ‘विविधता में एकता‘ के लिए जाना जाता है।]

यह हमारा गौरव और हमारी पहचान है। हम लोगों ने सरदार वल्लभ भाई पटेल के विचार अभी सुनें, उनकी आवाज हमारे कानों में गूंजना, उनके विचारों की वर्तमान में महत्ता, प्रतिपल देश की एकता और अखंडता के बारे में सोचना। उनकी वाणी में जो शक्ति थी और उनके विचारों में जो प्रेरणा था उसे हर हिंदुस्तानी महसूस कर सकता है। जिस तरह किसी श्रद्धास्थल पर आकर, असीम शांति मिलती है, एक नई ऊर्जा मिलती है, वैसी ही अनुभूति मुझे यहां सरदार साहेब के पास आकर होती है। पटेल ने भारत की एकता के लिए काम किया है।

पीएम मोदी ने कहा कि देश के अलग-अलग कोने से, किसानों से मिले लोहे से, अलग-अलग हिस्सों की मिट्टी से इस प्रतिमा का आधार बना है, इसलिए ये प्रतिमा हमारी विविधता में एकता का भी जीता-जागता प्रतीक है। अब से कुछ देर पहले ही एकता के मंत्र को जीने के लिए, उसके भाव को चरितार्थ करने के लिए, राष्ट्रीय एकता का संदेश दोहराने के लिए राष्ट्रीय एकता दौड़ देश के हर कोने में संपन्न हुई है।

उन्होंने कहा कि आज विश्व मंच पर हमारा प्रभाव और सदभाव, दोनों बढ़ रहा है, तो उसका कारण हमारी एकता है। आज पूरी दुनिया, भारत की बात गंभीरता से सुनती है, तो उसका कारण हमारी एकता है। आज भारत दुनिया की बड़ी आर्थिक ताकत है, तो उसका कारण, हमारी एकता है। जो लोग युद्ध नहीं जीत सकते वो फूट डाल रहे हैं। हमारी एकता को ललकारा जा रहा है। एकजुट रहकर ही दुश्मनों से मुकाबला संभव है। अनुच्छेद 370 ने कश्मीर को केवल आतंकवाद दिया है। 370 की दीवार गिरा दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here