पीपल की इसलिए करते हैं पूजा, पुराणों में लिखा है कुछ ऐसा

0
61
vastu

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार पीपल के पेड़ की पूजा करना शुभ माना जाता है। शनिवार को पीपल की पूजा करने से शनि दोष से छुटकारा मिलता है। लोगों की आस्था है कि पीपल की पूजा करने से पितृ प्रसन्न होते हैं और आशीर्वाद देते हैं।
गीता में भगवान श्री कृष्ण ने पीपल के वृक्ष को स्वयं अपना ही स्वरूप बताया है। मान्यताओं के अनुसार पीपल की पूजा करने से सभी देवताओं की पूजा का फल प्राप्त होता है।

स्कन्दपुराण में भी कहा गया है कि पीपल के मूल में विष्णु, तने में केशव, शाखाओं में नारायण, पत्तों में श्रीहरि और फलों में सभी देवताओं के साथ अच्युत भगवान निवास करते हैं। इसके अलावा व्रतराज नामक ग्रंथ में बताया गया है कि प्रतिदिन पीपल पर जल चढ़ाकर तीन बार परिक्रमा करने से आर्थिक समस्या एवं भाग्य में आने वाली बाधा दूर हो जाती है। पीपल की रोजाना पूजा करने से लंबी आयु का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

उपाय

शनिवार के दिन अगर अमावस्या तिथि हो तब सरसो के तेल का दीपक जलाकर काले तिल से पीपल वृक्ष की पूजा करें और सात बार परिक्रमा करें तो शनि दोष के कारण प्राप्त होने वाले कष्ट समाप्त हो जाते हैं।

व्यापार में उन्नति के लिए शनिवार के दिन पीपल का एक पत्ता लेकर उसे साफ पानी से धोएं, चन्दन से उस पत्ते पर स्वस्तिक बनाएं। इसेक बाद इस पत्ते को अपनी तिजोरी में या आप जहां भी पैसे रखते हों, वहां पर रख दें। इस उपाय को आप लगातार 7 शनिवार तक करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here