नर्सिंग की परीक्षा में छात्राओं में किया कांड, चीटिंग करने के लिए अंडरवियर में छिपाई थी पर्चियां

भोपाल। स्कूल की परीक्षाओं में चिट्ठियां और चीटिंग करने के कई सारे तरीके बच्चे अपनाते है। लेकिन एमबीबीएस और नर्सिंग की परीक्षाओं में चीटिंग करने की हिम्मत किसी में नहीं होती। वहीं मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) से ऐसे मामले लगातार सामने आ रहे है जहां बड़ी परीक्षाओं में छात्र चीटिंग करते पकडे जा रहे है। इसी कड़ी में अब मध्य प्रदेश के गुना (MP Guna) से सामने आया है जहां नर्सिंग परीक्षा के दौरान 36 परीक्षार्थी नकल करते पकड़े गए। वहीं जब छात्राओं की तलाशी ली गई तो महिला प्रोफेसर्स दंग रह गईं।

ALSO READ: परसा के ग्रामीण हुए एक जुट, ज्ञापन सौंपकर परसा खदान को शीघ्र शुरू कराने की रखी मांग

बताया जा रहा है कि, यहां कई छात्राओं ने अंडर गारमेंट्स में पर्चियां छिपाकर रखीं थी। आपको बता दें की, पीजी कॉलेज में गुना और अशोकनगर के 11 नर्सिंग कॉलेजों का एग्जाम सेंटर बनाया गया है। साथ ही कॉलेज के प्राचार्य का कहना है कि नर्सिंग परीक्षा में लड़कियां अपने अंडर गारमेंट्स में पर्चियां छिपाकर रखीं थी। इसके बाद नकल के 36 प्रकरण बनाए गए हैं। प्राचार्य ने आगे बताया कि कई छात्र दो बार नकल करते हुए पकड़े गए।

ALSO READ: IPL 2022 SRH vs RR Live: इस सीज़न में पहली बार भिड़ेंगी राजस्थान- हैदराबाद की टीमें, जाने Update

मिली जानकारी के मुताबिक, निजी नर्सिंग कॉलेजों में दलालों के माध्यम से बाहरी छात्रों का एडमिशन कराया जाता है। इस दौरान प्रवेश देने के बाद छात्रों की क्लास नहीं लगाई जाती है बल्कि वो सीधे परीक्षा देने पहुंच जाते हैं। इससे प्रबंधन का फायदा यह रहता है कि, कॉलेज प्रबंधन का खर्चा बच जाता है। इससे न तो टीचरों की जरूरत पड़ती है और न प्रैक्टिकल के लिए संसाधन जुटाने की।

आपको बता दें कि हाल ही में इंदौर से एक मामला सामने आया था। जहां एमबीबीएस की परीक्षा में बैठे एक छात्र ने चीटिंग का एक अनोखा तरीका अपनाया था। उसने अपने कान की सर्जरी करवाई थी और ब्लूथूथ फिट करवाया था। जिससे वो आसानी से चीटिंग कर पाए और कोई उसे पकड़ भी न पाए।