इंदौर। मध्यप्रदेश स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इस सिलसिले में आज का दिन लाड़ली लक्ष्मी बेटियों के नाम रहा। लाड़ली लक्ष्मियों पर आधारित इंदौर में आज अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसके तहत कलेक्टर चौराहे से महू नाके चौराहे तक की सड़क का नाम लाड़ली लक्ष्मी पथ किया गया। इसके साथ ही स्कीम नंबर 140 के समीप सर्वसुविधायुक्त लाड़ली लक्ष्मी उद्यान बनाया गया है। इसका आज लोकार्पण किया गया।

लाड़ली लक्ष्मी उत्सव अंतर्गत आज मुख्य कार्यक्रम रवीन्द्र नाट्य गृह में आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर, सांसद शंकर लालवानी, कलेक्टर मनीष सिंह, विधायक मालिनी गौड़, उप संचालक महिला एवं बाल विकास विभाग सी.एल. पासी विशेष रूप से मौजूद थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि भारत के इतिहास में नारियों का अहम स्थान है।

उन्होंने कहा देश के विकास एवं प्रगति में भी नारियों की अहम भूमिका रही है। कार्यक्रम को विधायक मालिनी गौड़ ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में भोपाल से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा दिए गए उद्बोधन का सीधा प्रसारण दिखाया गया। कार्यक्रम में चयनित लाड़ली लक्ष्मियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किए गए।

स्कीम नंबर 140 के समीप महापौर पुष्यमित्र भार्गव द्वारा लाड़ली लक्ष्मी उद्यान का लोकार्पण किया गया। इस मौके पर जिला पंचायत की सीईओ वंदना शर्मा, महिला एवं बाल विकास के कार्यक्रम अधिकारी रामनिवास बुधोलिया, पार्षद गण राजेश उदावत, राजीव जैन तथा मृदुल अग्रवाल सहित अन्य जनप्रतिनिधि लाड़ली लक्ष्मी बेटियाँ और उनके अभिभावक उपस्थित रहे। कार्यक्रम में महापौर सहित अन्य अतिथियों ने भी वृक्षारोपण किया।

Also Read: Social Media Viral: सोना- चांदी नहीं बल्कि पूरा का पूरा स्कूल चोरी कर ले गए चोर, छोड़ी नहीं एक भी ईंट

कलेक्टर चौराहे से महू नाके चौराहे तक की सड़क के नामकरण की शिला पट्टिका का अनावरण विधायक श्रीमती मालिनी गौड ने किया। इस अवसर पर महापौर परिषद के सदस्य अभिषेक शर्मा तथा प्रिया दांगी, पार्षद योगेश गेंदर, कंचन गिदवानी और रूपाली पेंडारकर, महिला एवं बाल विकास के उपसंचालक सी. एल. पासी, सहायक संचालक राकेश वानखेड़े आदि उपस्थित थे। इन कार्यक्रमों के साथ ही कलेक्टर कार्यालय में भी लाड़ली उत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में उपरोक्त जनप्रतिनिधियों के अलावा अपर कलेक्टर अभय बेड़ेकर भी मौजूद थे।