चांद के बाद अब सूरज की बारी, ISRO ने बनाई साल 2020 में सूर्य मिशन की योजना

0
27

आज चंद्रयान-2 के सफल लॉन्चिंग के बाद अब इसरो अगले साल यानी 2020 की पहली छमाही में सूरज के परिमंडल के अध्ययन के लिए सूर्य मिशन आदित्य एल-1 को अंजाम देने की योजना बना रहा है.

बता दें कि, आदित्य एल-1 का लक्ष्य सूर्य के परिमंडल का अध्ययन करने का होगा जिसमें हजारों किलोमीटर तक फैलीं सूर्य की बाहरी परतें भी शामिल हैं. इसरो ने मिशन के बारे में सूचना शेयर करते हुए अपनी वेबसाइट पर कहा है कि परिमंडल कैसे इतना गर्म हो जाता है, इसका जवाब अब तक नहीं मिला है.

इसरो के प्रमुख के सिवान ने कुछ दिनों पहले एक सम्मेलन में कहा था कि इस नए मिशन को साल 2020 की पहली छमाही में पूरा करने की योजना बनाई जा रही है. उनका कहना कि सूर्य के परिमंडल का विश्लेषण इसलिए किए जाने की जरूरत है क्योंकि जलवायु परिवर्तन पर इसका बड़ा प्रभाव है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि के सिवन इसरो के सचिव भी है. उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि अगले आने वाले दो या तीन साल में एक अन्य अंतरग्रहीय मिशन शुक्र पर भेजने की योजना भी बनाई जाएगी.

अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि इन पेलोड को धरती के चुंबकीय क्षेत्र के प्रभाव से बाहर स्थापित किया जाएगा और ये धरती की निचली कक्षा में उपयोगी नहीं हो सकते. भारत ने सोमवार को अपने दूसरे चंद्र मिशन चंद्रयान-2 का श्रीहरिकोटा से सफल प्रक्षेपण किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here