Homeइंदौर न्यूज़कान्ह नदी को प्रदूषण मुक्त करने के लिए इस प्रकार के उद्योग...

कान्ह नदी को प्रदूषण मुक्त करने के लिए इस प्रकार के उद्योग किए जाएंगे सील

कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि कान्ह नदी को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिये जिला प्रशासन द्वारा युद्ध स्तर पर सतत् अभियान चलाया जायेगा।

कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि कान्ह नदी को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिये जिला प्रशासन द्वारा युद्ध स्तर पर सतत् अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने कान्ह नदी में जुड़ने वाले तीन नालों में इंडस्ट्रियल वेस्ट डिस्चार्ज करने वाले उद्योगों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश देते हुए कहा कि उक्त कार्रवाई करने के लिए संबंधित क्षेत्र के सीईओ जनपद, नायब तहसीलदार, पंचायत सचिव एवं अन्य अधिकारियों का दल गठित किया जाएगा। यह दल गैर-आवासीय गतिविधियों से प्रदूषित होने वाली नालों की समीक्षा करेंगे एवं प्रदूषण के लिए जिम्मेदार उद्योगों को सील कर उनका विद्युत कनेक्शन कटवाने की प्रक्रिया संपन्न करायेंगे। इस संपूर्ण कार्य की मॉनिटरिंग अपर कलेक्टर श्री पवन जैन द्वारा किया जायेगी। कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कहा कि उद्योगों के निरीक्षण के दौरान फैक्ट्री द्वारा किए जा रहे पानी के उपभोग की मात्रा, एफ्लूएंट के रूप में निकाला जा रहा है इंडस्ट्रियल वेस्ट तथा कॉमन एफ्लूएंट ट्रीटमेंट प्लांट में भेजा जा रहा तरल वेस्ट आदि की समीक्षा की जाएगी। ऐसी सभी फैक्ट्रियां जहां एफ्लूएंट ट्रीटमेंट प्लांट होना अनिवार्य है उनकी भी जांच की जाएगी। जिन फैक्ट्रियों में ईटीपी प्लांट बंद पाया जाएगा उनको भी सील की जाने की कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने यह निर्देश आज सोमवार को कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित टीएल बैठक के दौरान दिए। बैठक में एडीएम श्री पवन जैन, जिला पंचायत सीईओ श्री हिमांशु चंद्र सहित सभी अपर कलेक्टर, एसडीएम एवं अन्य जिला अधिकारी उपस्थित रहे।

बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने सीएम हेल्पलाइन में लंबित प्रकरणों की विभाग बार विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने सीएम हेल्पलाइन पर 100 दिवस की अधिक अवधि से लंबित 1304 शिकायतों के संतुष्टि पूर्वक निराकरण के निर्देश दिए। उन्होंने अभिलेख शुद्धिकरण, धारण अधिकार, पीएम किसान सम्मान निधि तथा सीएम किसान सम्मान निधि आदि योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने 8 जनवरी से 14 जनवरी 2022 तक आयोजित किए जाने वाले पोषण जागरूकता सप्ताह के दौरान जिले के सभी 0 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों को पोषण सर्टिफिकेट दिलवाने के लिए प्रभावी अभियान चलाने के निर्देश महिला एवं बाल विकास विभाग अधिकारी को दिए। उन्होंने कहा कि वे नगरीय क्षेत्र के संबंधित सीएमओ के साथ समन्वय स्थापित कर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा बच्चों को पोषण मिशन का लाभ दिलाएं।

कार्य में लापरवाही बरतने पर अधिकारियों को मिला कारण बताओ नोटिस

सीएम हेल्पलाइन में लंबित प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही बरतने पर पीओ डूडा एवं देपालपुर के तत्कालीन सीएमओ को कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular