इंडेक्स मेडिकल कॉलेज के स्टूडेंट्स और डॉक्टर्स ने किया चक्काजाम, बगैर जांच किए आपराधिक मामला दर्ज किए जाने का किया विरोध

चक्काजाम कर रहे छात्रों ने कहा कि "रैगिंग के सम्बन्ध में कॉलेज प्रशासन एवं स्टूडेंट्स द्वारा गाइडलाइन का पालन दृढ़ता के साथ किया जा रहा है। कॉलेज प्रशासन और स्टूडेंट्स द्वारा सभी नियमों के पालन के बावजूद भी प्रबंधन पर बिना विधिवत जांच किए बगैर आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

इंदौर। इंडेक्स मेडिकल कॉलेज, इंदौर के छात्र चेतन पाटीदार द्वारा 30 मार्च 2022 को आत्महत्या करने एवं पाटीदार समाज द्वारा किए गए प्रदर्शन के बाद पुलिस द्वारा सेकंड ईयर के स्टूडेंट्स और इंडेक्स मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ जी एस पटेल के विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज किया गया है। इस मामले को लेकर इंडेक्स मेडिकल कॉलेज के स्टूडेंट्स और डॉक्टर्स ने शनिवार 2 अप्रैल को नेमावर रोड पर चक्का जाम कर अपना विरोध दर्ज किया।

इस दौरान चक्काजाम कर रहे छात्रों ने कहा कि “रैगिंग के सम्बन्ध में कॉलेज प्रशासन एवं स्टूडेंट्स द्वारा गाइडलाइन का पालन दृढ़ता के साथ किया जा रहा है। कॉलेज प्रशासन और स्टूडेंट्स द्वारा सभी नियमों के पालन के बावजूद भी प्रबंधन पर बिना विधिवत जांच किए बगैर आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। हम सब इसका विरोध करते हैं एवं अनुरोध करते हैं कि ये प्रकरण वापस लिया जाए एवं निष्पक्ष जांच की जाए।

Must Read- Heatwave: अगले चार दिनों तक बरपेगा भीषण गर्मी का कहर, इतना बढ़ सकता है तापमान

कॉलेज प्रबंधन ने कहा कि “हमारे कॉलेज में रैगिंग नहीं की जाती है। संस्थान में रैगिंग फ्री कैंपस भी सुनिश्चित किया गया है एवं कॉलेज की अपनी एंटी रैगिंग समिति भी है। कॉलेज की अपनी एंटी रैगिंग समिति, एंटी रैगिंग स्क्वाड एवं एंटी रैगिंग सेल भी स्थापित किए गए हैं, जिनके द्वारा एंटी रैगिंग स्लोगन कैप्शन एवं डिस्प्ले बोर्ड लगाए गए है ताकि सभी छात्र इनसे अवगत रहे एवं समय पड़ने पर सम्बंधित व्यक्ति से संपर्क कर सके। जूनियर सीनियर स्टूडेंट्स के होस्टल भी अलग-अलग है।”

Source- PR