नर्मदापुरम। दिग्गज समाजवादी नेता और जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का अंतिम संस्कार आज मध्य प्रदेश के नर्मदापुरम जिले में उनके पैतृक गांव में पूरे राजकीय सम्‍मान के साथ हुआ। शरद यादव की पार्थिव देह आज चार्टर्ड विमान के जरिए दिल्‍ली से भोपाल लाई गई थी। शरद यादव को उनके बेटे बेटी सुभासिनी और बेटे शांतनु ने एक साथ मुखाग्नि दी।

नर्मदापुरम के माखननगर में स्‍थित पैतृक गांव आंखमऊ में शरद यादव पंचतत्व में विलीन हुए। कई दिग्गज नेता यहां मौजूद रहे। पूरे राजकीय सम्‍मान के साथ शरद यादव का अंतिम संस्कार किया गया। जानकारी के लिए आपको बता दे कि पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव का गुरुवार को 75 साल की उम्र में गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया था।

Also Read – IMD Alert : एक इन 10 जिलों में 16 जनवरी तक होगी भीषण बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्‍य दिग्विजय सिंह शरद यादव को श्रद्धांजलि देने के लिए ओल्ड एयरपोर्ट पहुंचे थे। दिग्विजय के साथ उनके पुत्र व प्रदेश के पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह और कांग्रेस के जिलाध्यक्ष कैलाश मिश्रा भी हैं।

शरद यादव का जन्म 1 जुलाई 1947 को मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले के बाबई गांव में हुआ था। उन्होंने 1974 में मध्य प्रदेश के जबलपुर से लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार को हराकर जीत हासिल की थी। अपने लंबे राजनीतिक करियर में दो बार केंद्रीय मंत्री रहे। पहले वीपी सिंह सरकार में मंत्री बने। बाद में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में उन्हें मंत्री बनाया गया। शरद यादव एकलौते ऐसे नेता थे, जिन्होंने तीन राज्यों में राजनीति की और चुनाव जीते।