इंसानियत हुई शर्मसार! महाराष्ट्र में छिपकली के साथ हुआ सामूहिक दुष्कर्म

महाराष्ट्र। इन दिनों दुनिया में जो हो रहा है उसे देखकर यह लगता है कि इंसानियत तो जैसे इस दुनिया से गायब ही हो गई है. इंसान तो ठीक अब मनुष्य जानवरों को भी नहीं छोड़ रहा है. मानवता की हद तो तब हो गई जब महाराष्ट्र में एक छिपकली के साथ कुछ लोगों ने कुकर्म की घटना को अंजाम दिया. जी हां, यह हैरान कर देने वाला मामला महाराष्ट्र के सह्याद्री टाइगर रिजर्व से सामने आया है. जहां एक बंगाल मॉनिटर छिपकली के साथ 4 लोगों ने कुकर्म किया. इस वहशी घटना को अंजाम देने वाले 4 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

जानकारी के मुताबिक आरोपियों ने रिजर्व के अंतर्गत आने वाले चंदोली राष्ट्रीय उद्यान में अवैध रूप से प्रवेश किया. वन विभाग के हत्थे आरोपी जब चढ़े जब इन्हें शिकार के आरोप में पकड़ा गया, क्योंकि यह जंगल में घूमते हुए सीसीटीवी में कैद हो गए थे. लेकिन जब अधिकारियों ने इनके मोबाइल फोन की जांच की तो उसमे बंगाल मॉनिटर छिपकली के साथ कुकर्म का वीडियो मिला. इन दरिंदों ने ना सिर्फ छिपकली के साथ कुकर्म किया बल्कि इस वारदात को अपने फोन में भी रिकॉर्ड किया.

Must Read- दिग्विजय के बाद कैलाश विजयवर्गीय के ट्वीट से मचा बवाल, दोनों नेताओं में चली ट्वीट वाॅर

अधिकारियों को इनके मोबाइल में अन्य जानवरों की तस्वीर भी मिली है जिसमें खरगोश और हिरण शामिल है. जब अवैध रूप से अधिकारियों ने इन्हें जंगल में घूमते हुए कैमरा में देखा तब मौके पर इन्हें पकड़ने पहुंचे. जहां से केवल एक को पकड़ने में सफलता मिली बाकी तीन भाग गए थे. एक आरोपी के मोबाइल से ही यह वीडियो मिला जिसके बाद जांच पड़ताल करते हुए बाकी तीन आरोपियों को रत्नागिरी जिले के हटिव गांव से गिरफ्तार किया गया. इनके पास से दो पिस्तौल और दो मोटरसाइकिल भी बरामद की गई है.

मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा और एक जानवर के साथ कुकर्म करने के आरोप में उनके खिलाफ कई धाराओं में केस दर्ज करने की बात की जा रही है. बता दें कि बंगाल मॉनिटर छिपकली वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत आरक्षित प्रजाति के जीव है. आरोपियों के दोषी पाए जाने पर उन्हें 7 साल की सजा दी जा सकती है.

सोशल मीडिया पर खबर आते ही लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है. लोगों का कहना है कि इंसानियत मर चुकी है क्योंकि लोग अब छिपकली को भी अपनी हवस का शिकार बना रहे हैं.