सरकार ने रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल अनिल जैन को सीडीएस के रूप में नयुक्त किया है, जी हां अब देश को नया चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ मिल गया है। जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर इलाके में आतंकवाद के सफाए को लेकर अपने सेवाकाल के दौरान बेहतरीन काम किया है। जनरल बिपिन रावत के निधन के बाद यह पद खाली था और अब इस पद पर सरकार ने लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान को नियुक्त किया है। अनिल चौहान इस पद पर बैठने वाले यह दूसरे व्यक्ति हैं। 40 साल सेवा देने के बाद अनिल चौहान पिछले साल ही रिटायर हुए थे।

दरअसल लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान भारत सरकार के सैन्य मामलों से जुड़े विभाग के सचिव के रूप में कार्य करेंगे। आपको बता दें कि लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान को आतंकवाद का सफाया के लिए किए गए काम की वजह से जाना जाता है। जम्मू कश्मीर में जब पोस्टेड थे तो सेना के आतंकवाद विरोधी ऑपरेशन को प्लान करने में कई महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। वही पूर्वोत्तर इलाके में भी जब वह पहुंचे तो उग्रवाद के सफाए में भी कई अहम भूमिका रही। लेकिन जब सेना में अलग-अलग कमान, स्टाफ सहित कई जगहों पर नियुक्तियों में आतंकवाद के खिलाफ सरकार की लड़ाई मेंसाथ रहे और अपनी अहम भूमिका अदा की।

Must Read- लोकसेवा आयोग के पेपर्स से हुई छेड़छाड़, बुकलेट नंबर पर लगाया व्हाइटनर

रिटायर्ड होने के बाद भी लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान देश की सुरक्षा नीति को तय करने में काम करते रहे। जब डायरेक्टर जनरल मिलिट्री ऑपरेशन का प्रभार भी संभाला सेना में कई शानदार सेवा के लिए लेफ्टिनेंट जनरल रिटायर्ड अनिल चौहान को कई पदक सम्मानित भी किया गया, उन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक, उत्तम युद्ध सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक, सेना पदक एवं विशिष्ट सेवा पदक सम्मानित भी किया गया।