मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग के द्वारा आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी के 692 पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा प्रदेश के प्रमुख केंद्रों पर आयोजित की गई थी। लेकिन इस परीक्षा से जुड़े ऐसे कई सबूत प्राप्त हुए है जो प्रश्न पत्र लीक होने की ओर इशारा करते है।

दरअसल इस परीक्षा में गोपनीयता एवं अनुचित साधनों के प्रयोग की जांच व्यवस्था अब संदेह के दायरे में आ गई है। क्योंकि इस परीक्षा से जुड़े ऐसे कई सबूत मिले जो बताते है कि प्रश्न पत्र से मानवीय छेड़छाड़ की गई है। अभ्यार्थियों को प्राप्त हुए सेट A के प्रश्न पत्रों के बुकलेट नंबर की जगह पर व्हाइटनर का प्रयोग किया गया। जिसका सबूत भी साझा किया गया है।

Must Read- इन स्थानों पर होगी गरज-चमक के साथ बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट
ग्वालियर जबलपुर एवं भोपाल में ऐसे कई अभ्यर्थी हैं, जिनके पास ऐसे प्रश्न पत्र हैं जो कि स्पष्ट संकेत देते हैं कि प्रश्नपत्र से मानवीय छेड़छाड़ की गई है। पर्यवेक्षकों से शिकायत करने पर भी किसी ने इस मामले का निराकरण नहीं किया। आपको बता दें कि लोक सेवा आयोग में पहले भी इसकी शिकायत की जा चुकी है। लेकिन अब इस मुद्दे को उठाने के लिए इस परीक्षा में शामिल आयुर्वेद चिकित्साक 29/9/2022 को मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग कार्यालय इंदौर में स्वयं उपस्थित होकर आयोग प्रमुख से इस भ्रष्टाचार के मामले की शिकायत करेंगे।