बागी विधायकों का स्वागत, आओ घर दरवाजे खुले हैं-शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे

महराष्ट्र की सत्ता हाल के दिनों में शिवसेना पार्टी में दो गुटों के चलते उद्धव ठाकरे को सीएम पद छोड़ना पड़ा। इसके बाद से शिवसेना नेता व विधायक आदित्य ठाकरे आए दिन सीएम एकनाथ शिंदे पर पलटवार करते रहते है।

महराष्ट्र की सत्ता हाल के दिनों में शिवसेना पार्टी में दो गुटों के चलते उद्धव ठाकरे को सीएम पद छोड़ना पड़ा। इसके बाद से शिवसेना नेता व विधायक आदित्य ठाकरे आए दिन सीएम एकनाथ शिंदे पर पलटवार करते रहते है। इसी के बीच हाल में एक बयान दिया है। जो लोग पार्टी छोड़कर गए है। अगर वह वापस आते है तो उनका स्वागत है। उन्होंने ये भी कहा ”असली शिवसेना” पर लड़ाई जारी है।

गौरतलब है कि, महराष्ट्र राजनीती में बीते महीने शिवसेना सरकार में भारी उथल-पुथल देखने को मिली। जिसमे शिवसेना पार्टी दो गुटों उद्धव ठाकरे व एकनाथ शिंदे में विभाजित हो गई। एकनाथ ने बीजेपी के साथ गठजोड़ कर सीएम पद की शपत ले ली। इसके बाद में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एकनाथ शिंदे को ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल’ होने पर सभी पार्टी पदों से हटा दिया।

आदित्य ठाकरे ने दिया ये बयान

शिवसेना के सीएम एकनाथ शिंदे ने अपने गुट की ओर से प्रस्ताव पारित करने के साथ ही कहा शिवसेना के लिए लड़ाई जारी है। उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे गुट के भीतर चल रहे खींचतान के बीच आदित्य ठाकरे ने शनिवार को बयान जारी करते हुए कहा, हम उनके (बागी शिवसेना नेताओं ) संपर्क में नहीं हैं। हम केवल लोगों के संपर्क में हैं और महाराष्ट्र में सरकार अवैध और असंवैधानिक है। यह कभी भी गिर जाएगी।

Also Read : ब्रिटेन : ऋषि सुनक क्यों मान रहें हैं खुद को प्रधानमंत्री की दौड़ में पिछड़ा, लिज ट्रस के साथ सोमवार को होगी लाइव डिबेट

हाल ही में आदित्य ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना की युवा विंग में नेता मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के समर्थन में खुलकर सामने आ गए। इससे पहले मुंबई मेट्रोपोलिटन एरिया की महानगरपालिकाओं से बड़ी संख्या में कॉर्पोरेटरों ने एकनाथ शिंदे को समर्थन देने का ऐलान किया था। युवा सेना के सचिव और ठाणे महानगरपालिका से पार्षद पुर्वेश सरनाइक पहले ही शिंदे खेमे में शामिल हो चुके हैं।