उपभोक्ताओं के बिल सुधार के लिए कैंप लगाए विद्युत अधिकारी: ऊर्जा मंत्री प्रियवत सिंह

0
vidyut

भोपाल। ऊर्जा मंत्री प्रियवत सिंह ने कहा कि तत्कालीन सरकार के द्वारा विद्युत बिल बहुत बड़ी-बड़ी राशि के उपभोक्ताओं को अभी तक प्राप्त हो रहे थे। ऐसे बिलों को बिजली अधिकारी कैम्पों के माध्यम से सुधार करेंगे। इससे उपभोक्ता समय पर बिल जमा कर सकेंगे। यह बात ऊर्जा मंत्री ने शुक्रवार को मुरैना जिले के कैलारस विकासखण्ड के ग्राम चमरगवां में नवीन 33/11 उपकेन्द्र चमरगवां के लोकार्पण करते समय कही। इस अवसर पर पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास एवं मुरैना जिले के प्रभारी मंत्री लाखन सिंह यादव, सबलगढ़ विधायक बैजनाथ कुशवाह, कॉग्रेंस जिला अध्यक्ष राकेश मावई, समाजसेवी प्रदीप शर्मा, मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के एमडी मनीष सिंह, सीजीएम जी.के.भरदया, महाप्रबंधक वितरण कंपनी मुरैना शिशिर गुप्ता सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, ग्रामीणजन उपस्थित थे।

ऊर्जा मंत्री प्रियवत सिंह ने कहा कि कैलारस विकासखण्ड के ग्राम चमरगवां में 122.77 लाख रूपये की लागत से नवीन 33/11 केव्ही उपकेन्द्र का आज लोकार्पण किया है। जिससे 11 गावों को पर्याप्त मात्रा में विद्युत प्राप्त होगी। अब लोंगो के वोल्टेज की समस्या दूर होगी । उन्होंने कहा कि चमरगवां, चावटा, सारसबाई का पुरा, डोंगरपुर, महादेव का पुरा, गस्तौली, बस्तौली, खेरा मानगढ़, रिझौनी, खुमान का पुरा आदि ग्रामों को बिजली मिलना प्रारंभ होगी। उन्होंने कहा कि नवीन विद्युत उपकेन्द्र में 1X5 एमव्हीए पावर ट्रांसफार्मर स्थापित है। 17 कि.मी. 33 केव्ही लाइन एवं 12 कि.मी. 11 केव्ही लाइन डाली गई है। इस कार्य से लगभग 4700 घरेलू एवं 2800 कृषि विद्युत उपभोक्ताओं को वोल्टेज की समस्या से निजात मिलेगी व उच्च गुणवत्ता की बिजली मिलेगी। इस कार्य से 11 ग्रामों को निरंतर विद्युत प्रदाय किया जायेगा।

ऊर्जा मंत्री प्रियवत सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जो वायदे किये थे, जिसमें प्रदेश में आवारा गौवंश को सुरक्षित रखने के लिये गौशालाओं का निर्माण कराया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि पिछले 15 सालों में किसी भी किसान का कर्जा माफ नहीं हुआ। आज हम कर्जा माफ कर रहे है। जय किसाल फसल ऋण माफी योजना लगातार चल रही है। बेसक एक बार में नहीं कर पा रहे है, पर हमारी नियत साफ है। नियत साफ होने के कारण आपको बता रहे है कि प्रथम चरण में 22 लाख किसानों का ऋण माफ कर दिया है, द्वितीय चरण में 10 लाख किसानों का ऋण माफ कर रहे हैं और आने वाले दिनों में एक से दो लाख रूपये तक जो किसान बचेंगे, उनका भी ऋण माफ किया जावेगा। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की सरकार की नियत साफ है।

ऊर्जा मंत्री सिंह ने कहा कि प्रत्येक 10 हॉर्सपॉवर के मोटर चलाने वाले 18 लाख किसानों का बिजली का बिल हाफ कर दिया। जिसमें 10 हॉर्सपॉवर का कनेक्शन लेने के लिये 15 हजार रूपये लगते थे, उसमें हमने कनेक्शन चार्ज हाफ कर दिया है। उन्होंने कहा कि इन्दिरा गृह ज्योति योजना के तहत अशोक जाटव का बिल मात्र 95 रूपये का आया है, इन्दिरा गृह ज्योति योजना के तहत 100 यूनिट पर 100 रूपये उपभोक्ताओं को बिल प्राप्त होंगे, किन्तु ऐसा न हो कि विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारी 100 रूपये उपभोक्ताओं से लेने आयें तो वह भी न मिले, तो कंपनी के प्रति नाइंसाफी होगी। ग्रामीणों की मांग पर खेरली, चिन्नोनी चम्बल और निरार माता पर 3 विद्युत वितरण उपकेन्द्र नये लगाये जाने की घोषणा की। यह प्रस्ताव तत्काल भिजवाने के निर्देष दिए गए।

प्रदेश के पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास एवं मुरैना जिले के प्रभारी मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जब से सत्ता संभाली है तब से ऊर्जा मंत्री प्रियवत सिंह इस विभाग के मंत्री बनें हैं तब से प्रदेश में विद्युत में सुधार हुआ है। अब गए वो जमाने जब तत्कालीन सरकारें थीं। उस समय कई गुना विद्युत बिल उपभोक्ताओं को चुकाने पड़ते थे। अब गांव-गांव में विद्युत पहुंच रही है और वोल्टेज की समस्या के निदान के लिये विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आवारा गौवंश किसान के लिये एक बड़ी समस्या बना हुआ था, अब मुरैना जिले में 30 एवं प्रदेश में एक हजार गौशाला बनकर तैयार हो गई है। इसके अलावा 3 हजार गौशाला और नवीन स्वीकृत की गई हैं। जो ढ़ाई वर्ष के अन्दर में बनकर तैयार हो जायेंगी। अब किसानां को आवारा गौवंश खेत व रोड़ पर घूमता हुये नहीं मिलेगा।

सबगलढ़ विधायक बैजनाथ सिंह कुशवाह ने कहा कि ऊर्जा मंत्री द्वारा नवीन विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण किया है। इसी प्रकार के विद्युत उपकेन्द्र और भी बनाए जाएंगे। किसानों की हर बात को सरकार गंभीरता से ले रही है। प्रदेश सरकार गांव-गरीब, किसानों की सरकार है। जो किसानों के हित में काम कर रही है।