रीवा (Rewa) पुलिस ने गांजा का व्यापार करने वाले एक गिरोह को धर दबोचा है गिरोह के पास से 108 किलो ग्राम गांजा की खेप बरामद हुई है. जिसकी इसकी कुल कीमत लगभग 12 लाख रुपए बताई जा रही है. तस्कर ये खेप लेकर सतना जा रहे थे लेकिन मुखबिर सूच ना के बाद उन्हे रीवा की चोरहटा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

सोनभद्र से ले जाया जा रहा था गांजा

पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि गांजे की खेप यूपी के सोनभद्र जिले से सतना ले जा रहे थे. पुलिस के मुताबिक उन्हे मुखबिर से सूचना मिली थी कि कुछ तस्कर गांजा कि सप्लाई करने जा रहें है जिसके बाद पुलिस टीम ने घेरा बंदी शुरू की और आरोपीयो को गिरफ्तार कर लिया गया. चेकिंग के दौरान पुलिस विभाग को कार डिग्गी में गांजे की खेप बरामद हुई थी.

यूपी और एमपी से है तस्करों का संबंध

पुलिस के पूछताछ में पता चला है कि पकड़े गए तस्करों का ताल्लुक एमपी और यूपी राज्य से है. आपको बता दें कि गांजा तस्कर राम आशीष मौर्य उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के पन्नूगंज का रहने वाला है. जबकि दूसरा आरोपी लक्ष्मी प्रसाद कुशवाहा सतना जिले के उचेहरा का रहने वाला है. पुलिस आरोपियों को पकड़ कर थाने ले कर गई है जहां पर इनसे पूछताछ की जा रही है. इनके गैंग में और कितने लोग शामिल है इसकी भी पूछताछ की जा रही है.

पुलिस अधीक्षक ने की सराहना

आरोपियों के पकड़ने के बाद रीवा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार लाल ने चोरहटा पुलिस की जमकर तारीफ की. अधीक्षक का कहना है कि पुलिस कर्मियों की सतर्कता और सजगता का ही नतीजा है कि इतनी बड़ी कामयाबी मिली है. इसके साथ ही उन्होने कहा कि रीवा पुलिस का रवैय्या सख्त है आपराधियों पर नकेल कसी जा रही है.

Also Read : ‘सुकेश’ मेरे इमोशंस के साथ खेला, मेरा करियर बर्बाद किया’, Jacqueline Fernandes ने कोर्ट में किए कई बड़े खुलासे