प्रधानमंत्री मोदी का गुजरात दौरा हुआ रद्द, भारी वर्षा के चलते बदला कार्यक्रम

15 जुलाई को एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गुजरात के गांधी नगर जाने वाले थे, परन्तु गुजरात राज्य में हो रही भयंकर बारिश की वजह से पीएम मोदी का यह दौरा निरस्त करना पड़ा है। जारी है कई राज्यों में भारी बारिश का दौर, कई इलाकों में हालात गंभीर

15 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) अपने गृहराज्य गुजरात (Gujarat) के दौरे पर जाने वाले थे, परन्तु महाराष्ट्र और देश के अन्य राज्यों के साथ ही गुजरात में भी भारी बारिश की वजह से यह दौरा निरस्त कर दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आने वाली 15 जुलाई को एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गुजरात के गांधी नगर जाने वाले थे, परन्तु गुजरात राज्य में हो रही भयंकर बारिश की वजह से पीएम मोदी का यह दौरा निरस्त करना पड़ा है। दौरा आने वाले समय में स्थिति बेहतर होने पर फिर आयोजित किया जाएगा, परन्तु निश्चित समय अभी बताया नहीं जा सकता है।

Also Read-रानिल विक्रमसिंघे बने श्रीलंका के कार्यवाहक राष्ट्रपति, पहले से हैं प्रधानमंत्री पद पर

जारी है कई राज्यों में भारी बारिश का दौर, कई इलाकों में हालात गंभीर

भारत के कई राज्यों में भयंकर बारिश के कारण भारी असुविधा की स्थिति निर्मित हो रही है। उत्तराखंड, हिमाचल के साथ ही महाराष्ट्र और गुजरात के कई इलाके भयंकर बारिश की वजह से मुसीबतों का सामना कर रहे हैं। बारिश से प्रभावित इलाकों के रहवासियों का जनजीवन पूरी तरह से अस्तव्यस्त हो रहा है, मुश्किलों और असुविधाओं की भरमार लगी हुई है। सभी राज्यों के कई जिलों में बाढ़ के हालात बने हुए हैं, प्रशासन राहत और बचाव कार्यों में जुट गया है जिसमें एटीएस और सेना के सुरक्षा बल पूरा सहयोग कर रहे हैं ।महाराष्ट्र के कई जिलों में भयंकर बारिश से बाढ़ के हालात निर्मित हो गए हैं। राज्य के वर्धा जिले में एक वन्य क्षेत्र में स्थित एक कच्चा बांध बारिश के भयंकर पानी के बहाव से टूट गया, जिससे की आसपास के कुछ गाँवों और घरों में पानी घुस गया और यातायात के मार्ग अवरुद्ध हो गए। राज्य के अन्य कई जिले भी बारिश से बुरी तरह प्रभावित हैं। मुंबई और ठाणे में भी भारी बारिश से सड़कों पर पानी जमा है और यातायात दुष्प्रभावित है, साथ ही कई इलाकों में घरों में भी पानी घुस चुका है। पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के कई जिले भारी बारिश के चलते बाढ़ से ग्रस्त हो रहे हैं। राज्य में सबसे ज्यादा प्रभावित जिला चमोली है, जहां कई अलग-अलग स्थानों में भूस्खलन की घटनाओं से हालात गंभीर हो गए। भूस्खलन की वजह से मिट्टी और मलवा जमा होने के कारण बद्रीनाथ हाइवे सहित अन्य कई मार्ग बंद कर दिए गए हैं। प्रशासन के द्वारा राहत और बचाव कार्य जारी हैं तथा स्थानीय निवासियों की सलामती के लिए हरसम्भव प्रयास किए जा रहे हैं।

Also Read-महाराष्ट्र : गुरुपूर्णिमा के अवसर पर बालासाहेब ठाकरे के आगे नतमस्तक हुए एकनाथ शिंदे, मुख्यमंत्री पद के लिए व्यक्त कि कृतज्ञता