महाराष्ट्र : गुरुपूर्णिमा के अवसर पर बालासाहेब ठाकरे के आगे नतमस्तक हुए एकनाथ शिंदे, मुख्यमंत्री पद के लिए व्यक्त कि कृतज्ञता

गुरुपर्णिमा के पावन अवसर पर महाराष्ट्र के नवनियुक्त मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे मुंबई शिवाजीपार्क स्थित बाला साहेब मेमोरियल पहुंचे। शिवसेना के संस्थापक बाला साहेब ठाकरे को श्रद्धासुमन अर्पित किए। कहा मुख्यमंत्री का यह पद बालासाहेब ठाकरे के ही आशीर्वाद का परिणाम है।

आज गुरुपर्णिमा के पावन अवसर पर महाराष्ट्र (Maharashtra) के नवनियुक्त मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) मुंबई शिवाजीपार्क स्थित बाला साहेब मेमोरियल पहुंचे। यहां सीएम एकनाथ शिंदे ने शिवसेना के संस्थापक बाला साहेब ठाकरे को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इसके साथ ही उन्होंने बालासाहेब ठाकरे के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करते हुए कहा कि आज वे जो कुछ भी हैं बालासाहेब ठाकरे की वजह से हैं, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का यह पद बालासाहेब ठाकरे के ही आशीर्वाद का परिणाम है। इस दौरान महाराष्ट्र में वर्तमान में जारी भारी बारिश से उपजी असुविधा के विषय में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि राज्य को इमरजेंसी सर्विस अलर्ट पर रखा गया है, किसी भी अप्रिय घटना को नियंत्रण में रखने की पूरी तैयारी प्रशासन के द्वारा कर ली गई है, जिसमें जनता से सहयोग की अपील है।

Also Read-रानिल विक्रमसिंघे बने श्रीलंका के कार्यवाहक राष्ट्रपति, पहले से हैं प्रधानमंत्री पद पर

इधर उध्दव पर जारी है आघात पर आघात 

उद्धव ठाकरे पर आघातों का सिलसिला तब शुरू हुआ जब एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना के कई विधायक उद्धव ठाकरे सरकार से बगावत कर गए। जिसके बाद उद्धव ठाकरे को इस्तीफा देकर अपनी सरकार गंवानी पड़ गई। बगावती विधायकों के समर्थन और बीजेपी के सहयोग से एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री बने और शिवसेना के अस्तित्व पर भी एक प्रश्न चिन्ह उनके द्वारा लगा दिया गया। उद्धव ठाकरे पर आघात का सिलसिला यहां से और तेज हो गया जिसके बाद मुंबई और ठाणे जिले सहित कई निगमों के शिवसेना के पार्षदों के द्वारा भी एकनाथ शिंदे को अपना समर्थन सौंप दिया गया। इसके साथ ही शिवसेना के कुछ सांसदों ने भी उद्धव ठाकरे का दामन छोड़ कर एकनाथ शिंदे और बीजेपी की शरण ले ली। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के लिए बीते महीने से लेकर वर्तमान तक का समय किसी बुरे स्वप्न से कम साबित नहीं हुआ है।

Also Read-महाराष्ट्र : द्रोपदी मुर्मू के समर्थन के कारण शिवसेना से नाराज कांग्रेस, क्या टूटेगी महाविकास अगाडी