म्यूजिकल फेरों की इस शादी के दीवाने हुए लोग,खाना छोड़ पहुंचे मंडप

ये म्यूजिकल फेरे म्यूजिकल पंडित के नाम से फेमस कोलकाता के रहने वाले राघव प्रसाद गौतम ने करवाए हैं। बनारस के संपूर्णानंद संस्कृत यूनिवर्सिटी से आचार्य की डिग्री लेने के बाद राघव ने पंडिताई की शुरुआत की लेकिन अपनी म्यूजिकल फेरे की खासियत के चलते अब वे अपनी एक अलग पहचान बना चुके हैं।

0

इंदौर : शादी हर किसी की लाइफ का ऐसा पल होता हैं जिसके लिए सभी के बहुत सारे सपने होते हैं। सभी की शादी को लेकर अलग-अलग प्लानिंग होती हैं। सभी अपनी शादी में कुछ खास करना चाहते हैं। ऐसी ही एक अनोखी शादी हुई हैं इंदौर में इस शादी में जो खास चीज़ हैं वो जान कर शायद आप भी अपनी शादी में ये कांसेप्ट अपनाने की सोच सकते हैं। हर शादी में विधि विधान के साथ श्लोक और पूजन से विवाह संपन्न कराया जाता हैं। लेकिन इंदौर की इस अनूठी शादी में विवाह की सबसे ख़ास रस्म यानि की 7 जन्मो के 7 फेरे म्यूजिकल तरीके से कराए गए हैं। जी हां, इंदौर में हुई इस अनोखी शादी में दूल्हा दुल्हन की वरमाला से लेकर फेरो तक म्यूजिकल मंत्र चल रहे थे, जो सभी के लिए इंट्रेस्टिंग चीज थी।

ये म्यूजिकल फेरे म्यूजिकल पंडित के नाम से फेमस कोलकाता के रहने वाले राघव प्रसाद गौतम ने करवाए हैं। बनारस के संपूर्णानंद संस्कृत यूनिवर्सिटी से आचार्य की डिग्री लेने के बाद राघव ने पंडिताई की शुरुआत की लेकिन अपनी म्यूजिकल फेरे की खासियत के चलते अब वे अपनी एक अलग पहचान बना चुके हैं।

पंडित राघव प्रसाद गौतम की माने तो उनका कहना हैं की शादी की सभी रस्मे बड़े ही आराम से की जाती हैं। वरमाला में टाइम लिया जाता हैं। बरात में टाइम लिया जाता हैं। लेकिन जब फेरो का वक़्त होता हैं तब सभी यही कहते हैं की पंडित जी थोड़ा जल्दी कर दीजिये समय हो रहा हैं। विवाह की सबसे जरुरी रस्म में लोगो को जल्दी होती हैं। साथ ही आजकल के युवाओ को फेरे जैसी विधि में इंट्रेस्ट नहीं होता हैं पूरी शादी में फेरो का वक़्त ही ऐसा होता हैं जब सबसे कम लोग मौजूद होते हैं तो लोगो का फेरो में इंट्रेस्ट रहे और वो इस रस्म का हिस्सा बने इसके लिए राघव ने म्यूजिकल फेरो की शुरुआत की हैं।

इसके लिए उनके साथ बकायदा एक पूरी टीम होती हैं। म्यूजिशियन होते हैं कई म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट जैसे की बोर्ड, तबला, ढोलक, ऑक्टोपैड और बेंजो की धुन पर ये म्यूजिकल फेरे करवाए जाते हैं। इन म्यूजिकल फेरो की शुरूआत 12 साल पहले ही हो चुकी हैं। राघव और उनकी टीम अभी तक इस तरह से 500 से ज्यादा शादी करवा चुके हैं। देश के साथ-साथ उनकी टीम विदेशो में भी म्यूजिकल फेरे करवा चुकी हैं। राघव प्रसाद गौतम दुबई, काठमांडू और बैंकॉक जैसी जगह भी अपने खास म्यूजिकल फेरे करवा चुके हैं।

इंदौर में हुई इस अनोखी म्यूजिकल फेरों वाली शादी में भी मेहमानोन का का ख़ासा इंट्रेस्ट देखा गया। सभी के लिए ये पहला मौका था जब वो फेरो की रस्म को इस खास अंदाज में होता देख रहे थे। राघव जी के इन म्यूजिकल फेरों ने लोगोको फिर एक बार अपनी पारंपरिक रस्मो से जुड़ने का अवसर दिया।