ज्ञातव्य है कि पाकिस्तान के गुजरांवाला के अल्लाहवाला चौक पर कल 3 नवंबर को पीटीआई के चेयरमैन और पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पर हमला हुआ था। उल्लेखनीय है कि इमरान खान के आजादी मार्च के इस्लामाबाद की तरफ बढ़ते समय यह हमला किया गया था। जानकारी के अनुसार फैजल भट्ट नामक शख्स से इमरान खान के ऊपर गोली चलाई थी, जोकि उनके पैर में जाकर लगी। फैजल भट्ट को मौके पर एक शख्स ने पकड़ लिया और बाद में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया साथ ही इमरान खान को सुरक्षा घेरे में लिया गया। जानकारी के अनुसार हमलावर फैजल भट्ट ने पूछताछ में हैरान करने वाले कारण इस गोली कांड के बताए हैं।

Also Read-IMD Update : इन जिलों में तेजी से गिरेगा पारा, इन राज्यों में जारी रहेगी हल्की बारिश

अजान के दौरान म्यूजिक मेरे जमीर को गंवारा नहीं लगा

पूर्व पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के ऊपर गोली चलाने वाले शख्स फैजल भट्ट ने पुलिस की पूछताछ में इस गोलीकांड के हैरान करने वाले खुलासे किये हैं। उसके कहा कि एक तरफ अजान हो रही थी दूसरी तरफ ये लोग तेज आवाज में म्यूजिक बजा रहे थे, जोकि मेरे जमीर को बिलकुल भी अच्छा नहीं लगा और मैंने इसके लिए इमरान खान को सबक सिखाने का फैसला करते हुए गोली चला दी। इसके साथ ही आरोपी हमलावर फैजल भट्ट ने इमरान खान पर पाकिस्तान के लोगों को बरगालने के भी आरोप लगाए हैं।

भारत में हुआ था अजान का विरोध

एक तरफ पाकिस्तान में अजान को लेकर इस हद तक मजहबी कट्टरता है कि एक सामान्य सा शख्स देश के पूर्व प्रधानमंत्री को गोली मार देता है, वहीं हमारे देश में अजान की लाउड स्पीकर के माध्यम से गूंजने वाली तेज आवाजों को लेकर विरोध की एक लहर अभी कुछ समय पहले उठी थी। प्रश्न ये उठता है कि इस प्रकार का कट्टरवाद किस हद तक सही है और अजान की मानवता के लिए क्या अहमियत है।