अब रेलवे स्टेशन पर मिलेगी एयरपोर्ट जैसी सुविधा, ऐसे होगा कोरोना से बचाव

train

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने भारत में पैर पसारते ही रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा और कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए रेल सेवा बंद कर दी थी। जो कि लाॅकडाउन में मिली ढील के बाद से दोबारा बहाल कर दी गई है। ऐसे में कोरोना वायरस से बचाव के लिए अब रेलवे अपने यात्रियों को एयरपोर्ट जैसी सुरक्षा देने की तैयारी में हैं।

टिकट लेने से लेकर सभी काम बिना किसी के संपर्क में आए किए जा रहे हैं। ऐसी व्यवस्था लागू होने से यात्रियों में कोरोना वायरस फैलने की संभावना बेहद कम हो गई है। दरअसल इसकी शुरुआत प्रयागराज रेलवे स्टेशन से की गई। यहां यात्रियों के टिकट बुकिंग के बाद मोबाइल पर एक क्यूआर कोड भेजा जा रहा है। यात्रियों को ये क्यूआर कोड टिकट काउंटर पर दिखाना होता है।

रिजर्वेशन काउंटर कलर्क क्यूआर कोड को स्कैन करके बोर्डिंग टिकट जारी कर रहे हैं। जिसके बाद यात्री बोर्डिंग पास अपने सामने रखे मशीन से निकाल सकते हैं। यहां टिकट काउंटर कलर्क और यात्रियों को किसी भी टिकट या डॉकुमेंट को छूने की जरूरत नहीं पड़ती। यहीं नहीं यात्रियों की पहचान के लिए यहां टिकट काउंटर के पास ही एक वेब कैमरा भी लगाया गया है। टिकट कलर्क यात्री के पहचान पत्र और चेहरे को वेब कैमरे की मदद से वेरिफाई कर सकते हैं।