न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर नीशाम का दर्द , ट्विटर पर बोले- “बच्चों क्रिकेट मत खेलो…. मोटे हो कर 60 साल की उम्र में मर जाओ”

0
33

लंदन: विश्व कप के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ नहीं हारने के बावजूद खिताब हाथ से खोने वाली न्यूजीलैंड टीम के खिलाड़ियों का दर्द छलक पड़ा है। सुपर ओवर में जीत के करीब ले जाने वाले ऑलराउंडर जेम्स नीशम ने ट्विटर पर कहा है” कि बच्चों क्रिकेट या कोई और खेल मत खेलना यह दिल तोड़ता है जिंदगी में कुछ और करो 60 साल की उम्र तक मोटे हो जाओ और मर जाओ” । निशाम की इस झुँझलाहट को समझा जा सकता है।

मैच टाई होने के बाद महज चोको छक्कों के आधार पर इंग्लैंड को चैंपियन मान लिया गया। इसे कई पूर्व खिलाड़ी नाजायज बता रहे हैं। इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने भी कहा है कि मैं जिंदगी भर शर्मिंदा रहूंगा। जब भी न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन मिलेंगे उनसे माफी मांग लूंगा। इंग्लैंड के गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने भी कहा कि काश हम न्यूजीलैंड को हरा पाते । इंग्लैंड ने खिताब तो जीत लिया है लेकिन उनके खिलाड़ियों को वह खुशी नहीं मिल रही है जो मिलना चाहिए थी। उनकी जीत पर कई पूर्व खिलाड़ियों और मीडिया ने सवाल उठाया है।

न्यू जीलैंड का मीडिया बोला हमारी टीम को ठग लिया गया

आईसीसी के नियमों का भारी विरोध हो रहा है। न्यूजीलैंड के मीडिया ने खुलकर खिलाफ लिखा है ।यहां के अखबार “न्यूज़ीलैंड हेराल्ड” ने लिखा की अंपायरों की गलती से न्यूजीलैंड खिताब चूक गई है । आईसीसी का नियम 19.8 कहता है कि जब फील्डर ने थ्रो किया हो और बल्लेबाज रन दौड़ते हुए एक दूसरे को क्रॉस नहीं कर सकें हो तो रन नहीं गिना जाएगा ।इस लिहाज से जिस ओवरथ्रो पर इंग्लैंड को 6 रन दिए गए हैं वहां 5 ही दिए जाने थे।

1 रन से न्यूजीलैंड मैच जीत सकता था। लेकिन अम्पायर कुमार धर्म सेना की गलती से न्यूजीलैंड खाली हाथ ही घर लौट गया है ।एक और अखबार “द न्यूज” ने लिखा कि जिस समय हमारी टीम के साथ नाइंसाफी हो रही थी ,हमारे देश में सुबह के 6:00 बज रहे थे इतनी अफसोस नाक सुबह कभी नहीं देखी ।शानदार खेलने के बावजूद हम चैंपियन नहीं बन सके ।जो चैंपियन बना है वह हमारे जैसा ही खेला लेकिन किस्मत और अंपायरों की लापरवाही के चलते खिताब इंग्लैंड के हाथ में चला गया ।भारत के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर ने भी इंग्लैंड की जीत को ना जायज ठहराया है। उन्होंने लिखा कि जब दोनों टीमें बराबरी से खेली तो महज बाउंड्री के आधार पर चैंपियन कैसे चुना जा सकता है। कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जो आईसीसी के नियमों की वकालत कर रहे हैं युवराज सिंह का कहना है नियम सभी के लिए एक जैसे है,किस्मत इंग्लैंड के साथ थी वह चैंपियन बन गए हैं। न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर स्कॉट स्टायरिस ने आईसीसी को मसखरा बताया है। कहा कि तमाशा देखने के लिए आइसीसी नियमों में जोड़-तोड़ करता रहता है।

परीक्षित यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here