30 किलो नशीले पदार्थ जलाएं एनसीबी ने, गृह मंत्री शाह रहें मौजूद

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से चंडीगढ़ वर्चुवली माध्यम से करीब 30 किलो से ज्यादा की दवाइयों को 4 स्थानों पर ख़त्म किया गया है।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से चंडीगढ़ वर्चुवली माध्यम से करीब 30 किलो से ज्यादा की दवाइयों को 4 स्थानों पर ख़त्म किया गया है। इस दौरान वह पर मौजूद लोगों को सम्बोधन में कहा कि नशीले पदार्थ देश और समाज के लिए बेहद खतरनाक है। किसी भी समृद्ध राष्ट्र को नशीले पदार्थों की तस्करी के प्रति जीरो टॉलरेंस रखना चाहिए। दरअसल, एनसीबी ने एक जून से मादक पदार्थों के निपटान से संबंधित अभियान की शुरुआत की थी और 29 जुलाई तक 11 राज्यों में 51,217 किलोग्राम से अधिक मादक पदार्थों का निपटारा किया जा चुका है।

देश स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मनाने जा रहा है। इसका आह्वान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर दिया है और इस मौके पर 75,000 किलोग्राम मादक पदार्थ नष्ट करने का संकल्प लिया है।

Also Read : राष्ट्रमंडल खेल (Commonwealth Games) : बैडमिंटन में भारतीय दल से 5-0 से हारी पाकिस्तानी टीम, प्लेयर का छलका दर्द, कहा हमारे देश में है सुविधाओं का अभाव

शनिवार यानि 30 अगस्त को 30,468.784 किलोग्राम से अधिक मादक पदार्थों के निपटान के बाद अभी तक कुल मात्रा करीब 81,686 किलोग्राम का लक्ष्य प् पहुंच गया है। यह नशा मुक्त भारत की लड़ाई में एक बड़ी उपलब्धि होगी। सम्मेलन में पहली बार गृह मंत्री, विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री और मादक पदार्थों से संबंधित एजेंसियों के प्रतिनिधि ​​एक मंच पर मौजूद थे।

विज्ञप्ति के अनुसार, यह सम्मेलन देश को नशे के खतरे से मुक्त कराने के लिए मोदी के संकल्प को दर्शाता है। सम्मेलन के बाद, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्रियों, पंजाब के राज्यपाल सह केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासक, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल तथा चंडीगढ़, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिवों एवं पुलिस महानिदेशकों से मिलेंगे।

आज शाम केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन शासकीय स्कूल भवनों के उद्घाटन से जुड़े एक कार्यक्रम में शरीक होंगे। नई दिल्ली रवाना होने से पहले, वह पंजाब राजभवन में रात्रि भोज के बाद सुखना झील में ‘हर घर तिरंगा’ और आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रमों में शांमिल होंगे। पिछले चार महीनों में केंद्रीय गृह मंत्री का चंडीगढ़ में यह दूसरा दौरा है।