heavy rain

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मानसून (Monsson) के ब्रेक के बाद एक बार फिर से बारिश का मौसम शुरू होने वाला है। बताया जा रहा है कि 29 अगस्त से 3 सितंबर तक प्रदेश भर के ज्यादातर जिलों में बौछारें पड़ने की संभावना है। इसको लेकर मौसम विभाग द्वारा कहा गया है कि 3 सितंबर तक हल्की बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। ऐसे में सुबह से धूप चटकने के बाद शाम को मौसम में अचानक से बदलाव होने की संभावना है। बता दे, ज्यादा बारिश और बाढ़ के बावजूद प्रदेश भर के 33 जिलों को बारिश की दरकार है। मध्य प्रदेश में अभी भी सामान्य से 5 फीसदी से कम बारिश रिकॉर्ड हुई है।

33 जिलों में सामान्य से कम बारिश दर्ज –

जानकारी के मुताबिक, एमपी में एक बार फिर से मानसून की रफ्तार पर ब्रेक लग गया है। दरअसल, भारी बारिश और बाढ़ के बावजूद प्रदेश भर के 33 जिले अभी भी सूखे के संकट से जूझ रहे हैं। लकिन मध्य प्रदेश के 33 जिलों को अभी भी बारिश की दरकार है। ऐसे में अनूपपुर 5 फीसदी, बालाघाट 39 फीसदी, छतरपुर 25 फीसदी, छिंदवाड़ा 17 फीसदी, दमोह 44 फीसदी, डिंडोरी 14 फीसदी, जबलपुर 42 फीसदी, कटनी 34 फीसदी, मंडला 23 फीसदी, पन्ना 37 फीसदी, सागर 17 फ़ीसदी, सिवनी 30 फीसदी, टीकमगढ़ 9 फीसदी ही बारिश दर्ज की गई है।

3 सितंबर तक रुक रुक कर होगी बारिश –

मौसम को लेकर मौसम विभाग का कहना है कि मध्य प्रदेश में 3 सितंबर तक रुक-रुक कर बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश में कल से एक सिस्टम सक्रिय हो रहा है। कम दबाव का क्षेत्र बनने से आगमी रविवार से 3 सितंबर तक बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। मानसूनी सीजन में अक्सर रुक-रुक कर बारिश का सिलसिला जारी रहता है। जून में 9 बार, जुलाई में 4 बार, अगस्त में चौथी बार ऐसा हुआ है, जब सुबह से धूप चटकने के बाद शाम को अचानक तेज बारिश रिकॉर्ड हुई है।

मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले 24घंटे में प्रदेश भर में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ सकती है। मध्य प्रदेश के सागर, भोपाल होशंगाबाद, ग्वालियर संभागों के जिलों में, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन धार, इंदौर, उज्जैन, देवास, शाजापुर जिला में चमक के साथ आने वाले 24 घंटों में बौछारें पड़ने की संभावना है। वहीं शहडोल रीवा संभागों के जिलों कटनी जबलपुर नरसिंहपुर जिला में चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।