एक रात की बारिश से दर्जन से ज्यादा फीडर फाल्ट, 100 से ज्यादा कालोनियों के लोग बत्ती गुल होने से परेशान

कल शाम से ही मौसम का मिजाज बादलों से सराबोर रहा। इतने दिनों से सब्र किया हुआ आसमान आखिर बरस ही पड़ा।

कल शाम से ही मौसम का मिजाज बादलों से सराबोर रहा। इतने दिनों से सब्र किया हुआ आसमान आखिर बरस ही पड़ा। रात को जो बारिश का दौर शुरू हुआ तो गडग़ड़ाहट और बिजली चमकने के बीच बिजली लाइनों पर पेड़ आ गिरे, जिससे तकरीबन 100 कालोनियों में आधी रात को अंधेरा हो गया। सुबह न्यू जीडीसी कॉलेज किला मैदान रोड पर भी बिजली तारों पर पेड़ गिरने से तार टूट गए और खंभे क्षतिग्रस्त हो गए।रात 12.30 बजे के करीब बारिश तेज होते ही बिजली के डिस्क और इंसुलेटर फाल्ट होना शुरू हो गए। इंडस्ट्रियल एरिया सांवेर रोड, सुखलिया इलेक्ट्रॉनिक कॉम्प्लेक्स, पंचदीप क्षेत्र, इमली बाजार, रिसाला, सुभाष मार्ग, संगम नगर, किला मैदान रोड, राजवाड़ा, तिलक पैलेस, सुंदर नगर, राजेंद्र नगर, चोइथराम के समीप क्षेत्र, जिंसी, शंकरगंज, मल्हारगंज, बड़ा गणपति, अर्जुन पलटन आदि क्षेत्र के लोगों को तकरीबन 1 घंटा अंधेरे में रहना पड़ा। स

Also Read – यो यो हनी सिंह के गाने को बेंन करने को लेकर कोंग्रेस ने प्रधानमंत्री के नाम लिखा पत्र

बसे ज्यादा दिक्कत राजेंद्र नगर फीडर के चोइथराम चौराहे के पास पुराना पेड़ गिरने से बिजली के तार टूट गए और दो-तीन खंभे क्षतिग्रस्त हो गए। कार्यपालन यंत्री डीके तिवारी ने बताया कि रात में दूसरी ओर से सप्लाई शुरू कर दी गई थी। पेड़ की छंटाई कर सुबह सप्लाई नॉर्मल की गई। इसके साथ ही पोलोग्राउंड स्थित जीपीएच झोन के एई रघुवंशी ने बताया कि सुबह किला मैदान रोड न्यू जीडीसी कॉलेज के पास बिजली लाइन पर पेड़ गिरने से तार टूट गए। यहां पर भी 2 खंभे क्षतिग्रस्त हुए हैं। 11 बजे तक सप्लाई नार्मल करने का दावा बिजली कंपनी की ओर से किया जा रहा है। इमली बाजार, रिसाला, सुभाष मार्ग, तिलक नगर आदि क्षेत्रों में अंधेरे का सर्वाधिक सामना लोगों को करना पड़ा, जिससे सुबह के समय महिलाओं को दैनिक कार्य करने में भी दिक्कतें हुईं। बीती रात को तकरीबन एक दर्जन से ज्यादा फीडर फाल्ट होने से शहर की 100 कॉलोनियों के अलग-अलग क्षेत्रों में कहीं आंशिक तो कहीं ज्यादा लोगों को अंधेरे का सामना करना पड़ा। परेशान लोगों ने 1912 टोल फ्री नंबर पर संपर्क किया पर संतोषजनक जवाब नहीं मिलने से लोग नाराज नजर आए।