Indore : विधायक शुक्ला ने विधानसभा में किए सवाल, सफाई कर्मियों को मिली राशि

कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला के द्वारा विधानसभा में लगाए गए सवाल के कारण ही ताबड़तोड़ तरीके से इंदौर नगर निगम के द्वारा अपने सभी 7000 सफाई कर्मियों के बैंक खाते में प्रोत्साहन राशि के 10000 डाले गए हैं ।

इंदौर(Indore News): कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला(Sanjay Shukla) के द्वारा विधानसभा में लगाए गए सवाल के कारण ही ताबड़तोड़ तरीके से इंदौर नगर निगम के द्वारा अपने सभी 7000 सफाई कर्मियों के बैंक खाते में प्रोत्साहन राशि के 10000 डाले गए हैं । विधायक शुक्ला ने बताया कि जब इंदौर ने स्वच्छता का पंच लगाया था, उस वक्त मेरे द्वारा 23 दिसंबर को विधानसभा में तारांकित प्रश्न लगाया गया था ।

इस प्रश्न के माध्यम से मैंने सरकार से यह सवाल किया था कि जब स्वच्छता की हैट्रिक लगने पर प्रदेश की कमलनाथ सरकार के द्वारा इंदौर के हर स्वच्छता कर्मी को प्रोत्साहन राशि के रूप में 5000 दिए गए हैं तो फिर स्वच्छता का पंच लगने पर प्रदेश सरकार हर स्वच्छता कर्मी को 10000 क्यों नहीं दे रही है? मेरे द्वारा यह सवाल लगाए जाने के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा इंदौर के सभी 7000 सफाई कर्मियों को प्रोत्साहन राशि के रूप में 10000 देने की घोषणा की गई ।

Read More : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए Good News! सैलरी से जुड़ा आया नया अपडेट

विधायक शुक्ला ने कहा कि इस घोषणा के बाद से सरकार और नगर निगम प्रशासन दोनों निंद्रा में रहे । इनके द्वारा सफाई कर्मियों को यह राशि देने की दिशा में कोई पहल नहीं की गई । इस स्थिति में मध्यप्रदेश विधानसभा के आगामी बजट सत्र के लिए 13 फरवरी को मेरे द्वारा प्रश्न लगाया गया । इस प्रश्न में सरकार से पूछा गया कि जब इंदौर के हर स्वच्छता कर्मी को 10000 की प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की जा चुकी है तो फिर यह राशि अभी तक क्यों नहीं दी गई है ? इस सवाल को लगाए जाने का परिणाम यह हुआ कि रातों-रात इंदौर से लेकर भोपाल तक इस बारे में चर्चा हुई । इसके बाद ताबड़तोड़ तरीके से इंदौर नगर निगम के द्वारा सफाई कर्मियों के बैंक खाते में 7 करोड रुपए की राशि ट्रांसफर की गई ।

Read More : ग्लोबल स्किल पार्क को लेकर CM शिवराज का एलान, संत रविदास के नाम से जाना जाएगा पार्क

विधायक शुक्ला ने कहा कि जिस नगर निगम के पास ठेकेदारों के बकाया बिलों का भुगतान करने के लिए 1 करोड़ रुपए भी नहीं होते हैं, वह नगर निगम अचानक 7 करोड रुपए कैसे जारी कर सकता है ? हकीकत यह है कि सरकार के नुमाइंदों को इस बात का एहसास हो गया यदि अभी राशि जारी नहीं की तो विधानसभा के सत्र में संजय शुक्ला के सवाल से बवाल मच जाएगा । इसके परिणाम स्वरूप ताबड़तोड़ तरीके से इस राशि को जारी किया गया है । विधायक शुक्ला ने यह राशि मिलने पर इंदौर के सभी सफाई कर्मियों को बधाई दी है । उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा आवाज उठाए जाने के कारण पहले राशि दिए जाने की घोषणा हुई और अब राशि मिल सकी है ।