moreसाहित्य

कोरोना ने बहुत कुछ सिखाया

कल्पना सेठी

कोरोना ने किया है ऐसा हाल
इंसानो की बदलकर रख दी चाल
चायना वालो ने ये क़ैसा बिछाया जाल
हम न खरीदें अब इनका माल

*कोरोना ने बहुत कुछ सिखाया*

लाकडाऊन ने बहूत कुछ सिखाया
भोजन के कण कण का महत्व बताया
दूरियों ने रिश्तों को समझाया
बहुतों ने इसमे दु:ख उठाया
कईयों ने इसमें अपना फर्ज निभाया
तो कईयों परमार्थ करके पूण्य कमाया

*कोरोना ने बहुत कुछ सिखाया**

अभी भी सब रहना सावधान
सब रखना अपना ध्यान
इसी तरह सब बाते मान
तो बच जाएगी सबकी जान

*कोरोना ने बहुत कुछ सिखाया*

बिना कारण बाहर न जाना
मुंह पर मास्क भी लगाना
हाथ को बार बार धोना
तो नही पडेगा किसी को रोना
और इस तरह हारेगा कोरोना

फिर मुस्कुराएगा देश का कोना-कोना