उज्जैन। परिवार कल्याण कार्यक्रम के अन्तर्गत पुरूषो की भागीदारी बढ़ाने जाने के लिये शासन के निर्देशानुसार 21 नवंबर 2022 से 04 दिसम्बर 2022 तक पुरूष नसबंदी (वेसेक्टॉमी) पखवाड़ा मनाया जा रहा है। परिवार नियोजन कार्यक्रम मे पुरूषों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिये यह आवश्यक है कि अधिक से अधिक पुरूष नसबंदी ऑपरेशन हो सके। इसके लिये समाज मे एक सकारात्मक वातावरण का निर्माण कर विभागीय मैदानी अमले द्वारा लोगो को पुरूष नसबंदी के लाभ एवं पुरूषों की भागीदारी परिवार नियोजन कार्यक्रम मे क्यो आवयश्क है इससे अवगत कराया जावेगा।

प्रायः यह देखा गया है कि परिवार की अधिकांश जिम्मेदारियॉ महिलाओं के उपर निर्भर करती है। लोगो को पुरूष नसबंदी के लिये प्रेरित करने के पिछे शासन की मंशा है कि परिवार की जिम्मेदारी मे पुरूषों की भी भूमिका रहे। पुरूषो द्वारा आगे आकर परिवार नियोजन के इस कार्यक्रम को अपनाने के लिये योग्य हितग्राहियों को समझाईश दी जाये। पुरूषों के सहयोग के बिना परिवार नियोजन कार्यक्रम को वांछित सफलता नहीं मिल सकती।

पुरूष प्रधान समाज में पुरूष घर का कर्ताधर्ता होता है। सारे महत्वपूर्ण निर्णय पुरूषों द्वारा लिये जाते हैं जैसे कि कितने बच्चे पैदा करना है या स्त्री को परिवार नियोजन की कोन सी विधि अपनाना चाहिए आदि। पुरूषों को परिवार नियोजन अपनाने के लिए समझाना होगा। उन्हें यह भ्रांति दूर करने के लिए जानकारी देनी होगी कि पुरूष नसबंदी से पुरूषत्व में हानि नही होती, तथा अन्य जानकारी भी जैसे एड्स व यौन संक्रमण रोग से बचने के उपाय।

पुरूष नसबंदी के लिये जिला चिकित्सालय उज्जैन मे प्रतिदिन पुरूष नसबंदी ऑपरेशन किये जाते है साथ ही पुरे जिले मे निश्चित दिवस (फिक्स डे केम्प) केम्पों का आयोजन किया जा रहा है, जिसमे पुरूष नसबंदी ऑपरेशन किये जायेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा लोगो से अपील की गई है कि जिनके दो बच्चे है और वे अपने परिवार को समिति रखना चाहते है तो वे इन केम्पो का लाभ उठाकर पुरूष नसबंदी ऑपरेशन करवा सकते है। इस ऑपरेशन मे 10 से 15 मीनिट का समय लगता है, भर्ती होने की आवश्यकता नही है, ऑपरेशन मे चीरा व टाका नही लगाया जाता है, यह एक सरल एवं सुरक्षित तकनिक द्वारा किया जाता है।

Also Read : IMD Alert : आने वाले 4 दिनों में इन जिलों में होगी भारी बारिश,मौसम विभान ने जारी किया अलर्ट

पुरूष नसबंदी किसी भी समय करवाई जा सकती है। ऑपरेशन हेतु अस्पताल मे भर्ती होने की आवश्यकता नही है ऑपरेशन मे केवल 5-10 मीनिट लगते है। ऑपरेशन कराने वाले हितग्राही को राशि 3,000/-रू. एवं प्रेरक को राशि 400/-रू. दिये जाते है।