मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  की अध्यक्षता में मंत्रालय में कैबिनेट की बैठक राष्ट्रीय गीत वंदे मातरम् के गायन के साथ प्रारंभ हुई थी जो एक से दो घंटे तक चलती रही. इस बैठक में कई अहम प्रस्तावों पर चर्चा करने के बाद मंजूरी मिली . राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा  ने जानकारी देते हुए बताया कि उज्जैन-इंदौर के टोल प्लाजा यूजर फ्री होंगे. यूजर फ्री कलेक्शन एजेंसी के जरिए टोल टैक्स लिया जाएगा.

100 करोड़ रुपए की मंजूरी मिली

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री अन्नदूत योजना के 888 युवाओं को फायदा मिलेगा, इसको लेकर भी सरकार ने मंजूरी दी. राशन दुकानों के कमीशन को 70 रुपये से बढ़ाकर 90 रुपये प्रति क्विंटल किया गया. ग्रामीण राशन दुकानों में 200 से ज्यादा राशन कार्ड पर 10 हजार 500 रुपए दिए जाएंगे. वहीं कम राशन कार्ड वालों को सरकार 6 हजार रुपए देगी. उन्होंने कहा कि नरवाई को रोजगार से जोड़ने के लिए योजना को मंजूरी मिली. मत्स्य पालन से रोजगार को बढ़ाने के लिए 100 करोड़ रुपए की मंजूरी मिली.

मछली पालन योजना को करे प्रेरित

121 पदों पर चिकित्सा शिक्षा विभाग में भर्ती होगी. एमपी भवन विकास निगम में 198 पदों की स्वीकृति दी गई, 13 नए पदों का सृजन होगा. छोटे किसानों को मछली पालन के लिए प्रेरित करने के लिए कई योजनाओं के तहत 100 करोड़ रुपए स्कीकृत किए गए. दमोह, राजगढ़, बड़वानी, छतरपुर, सिंगरोली, गुना और विदिशा में कुल 536 नए पदों को हरी झंडी मिली. वहीं इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीसी के माध्यम से 8 से 10 जनवरी तक इंदौर में होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन के संबंध में विभिन्न देशों में फ्रेंड्स ऑफ एमपी के चैप्टर्स लीडर्स और सक्रिय सदस्यों से चर्चा की. साथ ही बड़ी संख्या में शामिल होने का आमंत्रण दिया.