महाराष्ट्र : मंत्रालय का बंटवारा, किसके खाते में क्या गया, जानें पूरा मामला

0
66

मुंबई। महाराष्ट्र में नवगठित उद्धव सरकार का 30 नवंबर की दोपहर दो बजे विधानसभा में बहुमत परीक्षण होगा, जबकि 1 दिसंबर को स्पीकर का चुनाव होगा। 2 दिसंबर को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा सदन को संबोधित किया जाएगा। इधर, बहुमत परीक्षण से पहले उद्धव ठाकरे सरकार के लिए नई मुसीबत खड़ी हो गई थी। कांग्रेस ने डिप्टी सीएम का पद मांग लिया था, जो एनसीपी देने को तैयार नहीं थी। हालांकि दोनों में दलों में हुई बैठक के बाद मामला सुलझा लिया गया है। शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी विधायकों के बीच हुई बैठक में स्पीकर का फैसला किया गया।

इसमें कांग्रेस के नाना पटोले को स्पीकर बनाने का फैसला लिया गया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच मंत्रालय के बंटवारे पर सहमति बन गई है। कांग्रेस को राजस्व, पीडब्लूडी और आबकारी विभाग मिल सकता है, जबकि एनसीपी के खाते में गृह, वित्त, पर्यावरण और वन मंत्रालय जा सकता है। मुख्यमंत्री पद के अलावा शिवसेना के बाद शहरी विकास, हाउसिंग, सिंचाई, परिवहन मिल सकता है।

हालांकि, अभी शिक्षा और उद्योग से जुड़े मंत्रालयों पर सहमति बन गई है। सूत्रों के मुताबिक डिप्टी सीएम और स्पीकर को लेकर कांग्रेस और एनसीपी में पेंच फंसा हुआ है। कांग्रेस-एनसीपी दोनों ही पार्टियां स्पीकर का पद नहीं छोड़ना चाहती थीं। कांग्रेस ने एनसीपी के सामने स्पीकर का पद छोड़ने के बदले दो डिप्टी सीएम के पदों का प्रस्ताव रखा, लेकिन एनसीपी तैयार नहीं हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here