भगवान महावीर की 3 अप्रैल को मनाई जाएगी जयंती, सरकार ने मानी जैन समाज की मांग

इंदौर। जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर अहिंसा पथ प्रदर्शक भगवान महावीर की जन्म जयंती को लेकर पिछले कई दिनों से समाज में असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। केंद्र सरकार के अनुसार भगवान महावीर की जन्म जयंती 4 अप्रैल घोषित है किंतु जैन आगम व तिथि के अनुसार इस वर्ष महावीर जयंती 3 अप्रैल को आ रही है जिसे लेकर देशभर में संतों व समाज जनों ने अपने अपने स्तर पर अपने-अपने राज्यों में सरकार से 3 अप्रैल किए जाने की मांग की थी।

राजस्थान गुजरात अन्य कई प्रदेशों में जैन समाज की मांग को स्वीकार करते हुए महावीर जयंती 3 अप्रैल कि विभिन्न राज्य सरकारों ने घोषणा भी की है। उक्त जानकारी देते हुए दिगम्बर जैन समाज सामाजिक संसद के अध्यक्ष नरेंद्र वेद, महामंत्री डी के जैन व प्रवक्ता मनीष अजमेरा ने बताया की। इसी तारतम्य में मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने जैन समाज की मांग को मानते हुए 4 अप्रैल की जगह 3 अप्रैल का अवकाश घोषित कर दिया है। जिससे समाज में चल रही उपा पोह की स्थिति खत्म हो गई । संपूर्ण दिगंबर जैन समाज ने महावीर जयंती 3 अप्रैल बनाने का निर्णय लिया है।

Also Read : उज्जैन में 9-10 अप्रैल को होगा तीसरा उज्जैनी शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल, फिल्म जगत के बड़े नाम होंगे शामिल

उल्लेखनीय है कि इस अवसर पर परंपरागत से स्वर्ण रथ यात्रा कांच मंदिर से निकलकर शहर के विभिन्न मार्गो से होती हुई पुनः कांच मंदिर पहुंचती है जहां श्रीजी के कलशा अभिषेक का आयोजन होता है साथ ही दिगंबर जैन महासमिति द्वारा खालसा स्कूल में भोजन का आयोजन परंपरागत रूप से होता है अब यह सभी आयोजन 4 अप्रैल की जगह 3 अप्रैल को होंगे । साथ ही शहर के विभिन्न जिनालयों में प्रात प्रभातफेरी, जुलुस व अभिषेक के आयोजन होंगे। सामाजिक संसद ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा की सरकार के इस निर्णय से जैन समाज हर्षित है।