घर बैठे वोटर आई़़डी को आधार से करें लिंक, ये रहा स्टेपवाइज प्रोसेस

चुनाव आयोग ने वोटर आईटी कार्ड को आधार से लिंक करने की मुहिम शुरू की है. चुनाव आयोग के मुताबिक इस मुहिम का लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि मतदाता सूची में जो नाम हैं,

चुनाव आयोग ने वोटर आईटी कार्ड को आधार से लिंक करने की मुहिम शुरू की है. चुनाव आयोग के मुताबिक इस मुहिम का लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि मतदाता सूची में जो नाम हैं, वह सही है. इसके अलावा इससे पता चल सकेगा कि कोई शख्स एक से अधिक क्षेत्रों में मतदाता या एक ही क्षेत्र से एक से अधिक बार रजिस्टर्ड तो नहीं हैं.

EPIC को आधार से ऑनलाइन मोबाइल के जरिए ऐसे करें लिंक

  • सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर (एंड्रॉयड यूजर्स) या ऐप स्टोर (आईफोन यूजर्स) से Voter Helpline App डाउनलोड करके इंस्टॉल करना होगा.
  • इंस्टॉल करने के बाद इस ऐप को खोलें और “I agree” और फिर “Next” पर क्लिक करें.
  • कई ऑप्शंस दिखेंगे जिसमें से पहले विकल्प “Voter Registration” पर क्लिक करें.
  • “Electoral Authentication Form (Form6B)” और फिर “Lets Start” को चुनें.
  • अपना मोबाइल नंबर भरें और “Send OTP” पर क्लिक करें.
  • ओटीपी भरें और फिर इसके बाद “Verify” पर क्लिक करें.
  • इसके बाद पहला विकल्प “Yes I have voter ID” और फिर “Next” पर क्लिक करें.
  • अब अपना वोटर आईडी नंबर भरें और राज्य चुनें.
  • इसके बाद “Fetch Details” और “Proceed” पर क्लिक करें.
  • स्क्रीन पर जो डिटेल्स मांगी जा रही है, उसे भरें और “Next” पर क्लिक करें.
  • इसके बाद आधार नंबर, मोबाइल नंबर, अपने स्थान की डिटेल्स दें और फिर “Done” पर क्लिक करें.
  • फॉर्म 6बी का प्रिव्यू पेज दिखेगा.
  • सभी डिटेल्स चेक करें और फॉर्म को सबमिट करने के लिए “Confirm” पर क्लिक करें.
  • कंफर्म होने के बाद फॉर्म 6बी का रिफरेंस नंबर प्राप्त होगा.
  • फॉर्म-6बी चुनाव आयोग के साथ अपना आधार नंबर साझा करने का फॉर्म है और यह nvsp.in पर भी उपलब्ध है.

वोटर आईडी को आधार कार्ड से लिंक करने के एक नहीं 5 तरीके है. इन तरीकों में से जो आपको अच्छा लगे आप उसी तरीके से इस कार्य को पूर्ण कर सकते है.
 वेबसाइट के जरिए ,  ऐप के माध्यम से, SMS से, Call से, बूथ पर जाकर

वेबसाइट के जरिए
http://www.nvsp.in पर विजिट करें और इलेक्टोरल रोल पर क्लिक करें, राज्य, जिला, व्यक्तिगत दर्ज कर सर्च बटन पर क्लिक करें, जानकारी सरकारी डेटाबेस से मेल खाती है, तो विवरण दिखाई देगा, स्क्रीन के बाईं ओर दिख रहे अब फीड आधार नंबर पर क्लिक करें, अब पॉप-अप पेज दिखाई देगा, जहां आपको एक बार फिर मांगी गई जानकारी भरना होगा, सभी विवरण दर्ज करने के बाद सबमिट पर क्लिक करें

Also Read – अवैध खनन के मामले में प्रेमप्रकाश को ED ने किया गिरफ्तार,रांची से हुई गिरफ्तारी,छापे में घर से AK-47 बरामद

ऐप के माध्यम से
सबसे पहले Voter Helpline App के होमपेज पर Voter Registration पर क्लिक करें, यहां पर Electoral Authentication Form (Form 6B) पर क्लिक करें, यहां पर मोबाइल नंबर दर्ज करें और SEND OTP पर क्लिक करें और Verify करें, यहां Yes Have Voter ID number पर Click करें, अब Voter Card Number दर्ज करें, अब नया पेज ओपन होगा जहां पर आपकी पूरी जानकारी दिखेगी, उसके बाद Next पर क्लिक करें, यहां पर Aadhar Number, Mobile Number, Email Id और Place दर्ज करें फिर Done पर क्लिक करें, अब आपके सामने Preview Page पेज में सभी जानकारी Confirm करें,अंत में आपको Reference number प्राप्त होगा जिसको कहीं नोट करके रख लें

 

SMS और call से
<Voter Id Number> <Aadhar Number> को 166 या 51969 नंबर पर SMS करें
उसके बाद आधार एवं वोटर आईडी को लिंक करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी
जैसे-जैसे विकल्प पूछता है उसकी जानकारी देते और आगे बढ़ें
इस प्रकार आप मोबाइल sms से भी वोटर आइडी को आधार से लिंक कर पाएंगे
इसके अलावा हेल्पलाइन 1950 नंबर पर फोन करके भी आधार वोटर आईडी लिंक की जा सकती है

आधार कार्ड- वोटर ID के साथ नजदीकी बूथ लेवल के ऑफिस से संपर्क करें और लिंकिंग का आवेदन भरे
आवेदन पत्र भरें और बूथ लेवल के अधिकारी या बीएलओ के पास में जमा कर दें
फार्म में भरी गई सारी जानकारी को वेरिफाई कर बूथ ऑफिसर एडिशनल वेरिफिकेशन के लिए आपके लोकेशन पर आएगा
एक बार वेरिफिकेशन प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आधार और Voter ID को लिंक करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी

स्वैच्छिक है आधार को वोटर आईडी से लिंक कराना
बता दें इस अभियान के शुरू होने से पहले ही चुनाव आयोग ने इसे स्वैच्छिक करार दिया था. वोटर आईडी या इलेक्शन फोटो आइडेंटिटी कार्ड (EPIC) को आधार कार्ड के साथ लिंक करना अनिवार्य नहीं है. आयोग ने साफ कहा था कि मतदाता पहचान पत्र को आधार से लिंक करने के लिए मतदाताओं को बाध्य नहीं किया जाएगा. अगर कोई मतदाता अपना आधार नहीं दे रहा है तो उसका नाम मतदाता सूची से हटाया नहीं जाएगा.