नई दिल्ली : शुक्रवार को पीएसी द्वारा पीएआई 2020 की वार्षिक रिपोर्ट जारी की गई है. इसके अंतर्गत देश के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के सरकारी काम-काज की स्थिति को स्पष्ट किया गया है. इसके अंतर्गत यह जानकारी मिलती है कि कौनसा राज्य सरकारी काम-काज के मामले में किस स्तर का कार्य कर रहा है. सरकारी काम-काज के मामले में केरल को 1.388 अंकों के साथ पहला स्थान मिला है. बता दें कि यह रिपोर्ट भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व अध्यक्ष के कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता में तैयार की गई है.

शुक्रवार को जारी हुई रिपोर्ट में दूसरा स्थान 0.912 अंकों के साथ तमिलनाडु को मिला है. तीसरे स्थान पर 0.531 अंकों के साथ आंध्रप्रदेश और चौथे स्थान पर 0.468 अंकों के साथ कर्णाटक ने जगह बनाई है. इसके बाद उत्तर प्रदेश, ओडिशा और बिहार रैंकिंग में सबसे नीचे क्रमशः 1.461, -1.201 और -1.158 अंकों के साथ पाए गए.

वहीं देश के सबसे छोटे राज्य की गिनती में आने वाले गोवा ने 1.745 अंकों के साथ सबसे छोटे राज्यों में पहला स्थान हासिल किया है. इसके बाद क्रमश: मेघालय, हिमाचल प्रदेश का का नाम क्रमश: 0.797 और 0.725 अंकों के साथ दर्ज हुआ है. वहीं सूची में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले राज्यों के रूप में राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों में मणिपुर (-0.363), दिल्ली (-0.289) और उत्तराखंड (-0.277) का नाम शामिल है.

केंद्र शासित प्रदेशों में चंडीगढ़ ने किया टॉप…

केंद्र शासित प्रदेशों में चंडीगढ़ ने पहला स्थान हासिल किया है. चंडीगढ़ को इस दौरान 1.05 अंक मिले. वहीं दूसरे स्थान पर जगह बनाने में पुडुचेरी कामयाब रहा. पुडुचेरी ने 0.52 अंक हासिल किए. इस सूची में केंद्र शासित प्रदेशों में तीसरा स्थान 0.003 अंकों के साथ लक्षद्वीप को मिला. इसके आगे दादर और नगर हवेली (-0.69), अंडमान, जम्मू और कश्मीर (-0.50) और निकोबार (-0.30) का नाम शामिल रहा.