नया घर लेने से पहले इन बातों का भी रखें ध्यान, होता है फायदेमंद

0
49

व्यक्ति अपने घर के लिए कई सपनों को बुनता है, पाई-पाई जोड़ कर वह अपने सपनों का महल सजाता है। घर छोटा हो या बड़ा वास्तु का उसमे गहरा प्रभाव रहता है। कई बार हम ये भूल कर देते है, हम बिना सोचे घर तो खरीद लेते है लेकिन उसके बाद हमे कई परेशानियों से गुजरना पड़ता है। जैसे पैसों की तंगी, घर में कलह होना, या फिर स्वास्थ्य संबंधी परेशानी।

इन परेशानियों से बचने के लिए ही घर लेने से पहले वास्तु का ध्यान रखा जाता है। आप भी अगर कोई फ्लैट लेने की तैयारी में है तो हमारी यह खबर आपके लिए काफी मददगार साबीत हो सकती है। आइए जानते है कि फ्लैट लेने से पहले किन वास्तु से जुड़ी बातों का ध्यान रखना चाहिए।

1- सबसे जरुरी है कि आपके घर का मुख्य द्वार दिशा के अनुसार शुभ स्थान पर हो। शुभ स्थान पूर्वी ईशान, उत्तरी-ईशान, दक्षिणी-आग्नेय और पश्चिमी-वायव्य है। नैर्ऋत्य कोण के द्वार पूर्ण रूप से अशुभ माने जाते हैं। नैर्ऋत्य कोण में बड़े और ऊंचे पेड़ उत्तम माने जाते हैं। वहीं ईशान कोण में जल की व्यवस्था और पानी की टंकी या बोरिंग होना अच्छा माना जाता है।

2- अगर आप किसी सोसाइटी में फ्लैट लेने के बारे में सोच रहे हैं तो यह देखना चाहिए कि स्विमिंग पूल आपके फ्लैट से पश्चिम दिशा में हो और हेल्थ क्लब और जिम आदि आपके घर के पूर्व दिशा में हों।

3- वास्तु नजरीए से एल और सी के आकार के फ्लैट अच्छे नहीं माने जाते हैं। साथ ही आपके फ्लैट के सामने सीढ़ियां और लिफ्ट नहीं होने चाहिए। सीढ़ियां नैर्ऋत्य कोण, दक्षिण अथवा पश्चिम दिशा में होना शुभ माना जाता है। भूलकर भी सीढ़ियां ईशान कोण या फिर पूर्व और उत्तर दिशा में नहीं होनी चाहिए। ईशान कोण अधिक से अधिक खुला और हवादार होना चाहिए।

4- आपके घर में मास्टर बैडरूम नैर्ऋत्य कोण में होना सबसे शुभ माना जाता है। वहीं किचन आग्नेय कोण या फिर वायव्य कोण में होनी चाहिए। गलती से भी किचन ईशान कोण में नहीं बनाना चाहिए। ध्यान रहे कि टॉयलट और बॉथरूम फ्लैट के मध्य में न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here