केदारनाथ को सेटेलाइट की चेतावनी, 2013 की तबाही जैसी फिर हो सकती है घटना

0
53
kedarnath

साल 2013 में केदारनाथ में प्रकृति की सबसे बड़ी घटना सामने आई है. जिसवजह से पूरी केदारनाथ घाटी तहस-नहस हो गई थी. इस बड़ी घटना में करीब 5 हज़ार लोग मारे गए और हजारों लोग घायल हो गए थे. इस आपदा में करोड़ों का नुकसान भी हुआ था. तब विशेषज्ञों ने इस तबाही का कारण मानसून का जल्दी आ जाना और ग्लेशियरों का पिघलना बताया था.

केदारनाथ की तबाही के छह साल बाद एक बार फिर चोराबाड़ी झील में पानी जमा हो रहा है. बता दें कि यह वही झील है जो 2013 में आए महाविनाश की मुख्य वजह बनी थी. अब इस झील में फिर से पानी जमा होने लगा है. सेटेलाइट तस्वीरों के जरिए ऐसा पता लगा है कि 2013 की तबाही जैसा खतरा फिर से केदारनाथ पर आ रहा है.

जमी हुई चोराबाड़ी झील के कुछ नई तस्वीरें सामने आई हैं. केदारनाथ धाम से दो किलोमीटर ऊपर कई जगह पानी जमना हो रहा है और पानी जमा होने वाली जगहों की संख्या बढ़ रही है.

यह तस्वीरें लैंडसैट 8 और सेंटीनेल-2B सेटेलाइट से 26 जून, 2019 को ली गई हैं. इन तस्वीरों से पता चलता है कि पिछले एक महीने में जल समूहों की संख्या दो से बढ़कर चार हो गई है. सामने आ रही ख़बरों के मुताबिक, उत्तराखंड सरकार ने एहतियाती उपाय करने शुरू कर दिए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here