संकट मे कमलनाथ सरकार, मायावती ने समर्थन पर दी पुनर्विचार की धमकी | Mayawati threatens to rethink on Support: KamalNath Government

0
152
cm kamalnath

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर बहुजन समाजवादी पार्टी प्रमुख मायावती का जमकर गुस्सा फूटा है और उन्होंने कांग्रेस पर बीजेपी की तरह सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने कहा कि वह मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार को समर्थन जारी रखने पर पुनर्विचार करेगी। जिसके चलते कांग्रेस में अब खलबली मच गई है। बता दें कि कमलनाथ सरकार में बसपा के 2 विधायकों का समर्थन है अगर बसपा समर्थन वापस लेती है तो प्रदेश में सियासी उथल-पुथल मच सकती है।

दरअसल गुना-शिवपुरी सीट से बीएसपी प्रत्याशी लोकेंद्र सिंह राजपूत ने सोमवार को कांग्रेस का हाथ थाम लिया है और कांग्रेस प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपना समर्थन देने का भी ऐलान किया है। वहीं इससे पूर्व राजगढ़ में भी बसपा प्रत्याशी ने नामांकन वापस ले लिया था और कांग्रेस को समर्थन देने की बात कही थी। बसपा के दोनों प्रत्याशियों द्वारा कांग्रेस का साथ दिए जाने से बसपा को भारी झटका लगा है। जिसके चलते मायावती ने कांग्रेस पर जमकर नाराजगी जाहिर की है।

मायावती ने ट्वीट कर कहा कि ‘सरकार मशीनरी के दुरुपयोग के मामले में कांग्रेस भी बीजेपी से कम नहीं। एमपी के गुना लोकसभा सीट पर बीएसपी उम्मीदवार को कांग्रेस ने डरा- धमकाकर जबरदस्ती बैठा दिया है। किंतु बीएसपी अपने सिंबल पर ही लड़कर इसका जवाब देगी व अब कांग्रेस सरकार को समर्थन जारी रखने पर भी पुनर्विचार करेगी।’

मायावती ने एक अन्य ट्वीट कर कहा कि ‘साथ ही, यूपी में कांग्रेसी नेताओं का यह प्रचार कि बीजेपी भले ही जीत जाए किन्तु बसपा-सपा गठबंधन को नहीं जीतना चाहिए, यह कांग्रेस पार्टी के जातिवादी, संकीर्ण व दोगले चरित्र को दर्शाता है। अतः लोगों का यह मानना सही है कि बीजेपी को केवल हमारा गठबंधन ही हरा सकता है। लोग सावधान रहें।’

बता दें कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार को बसपा के दो विधायक, समाजवादी पार्टी के एक विधायक और चांद निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त है। जिसके दम पर प्रदेश में कांग्रेस ने सरकार बनाई थी। हालांकि बीएसपी समर्थन वापस लेती भी हैं तब भी कांग्रेस के पास बहुमत रहेगा। लेकिन बीजेपी द्वारा लगातार सरकार गिराने के दावे किए जाने के बाद प्रदेश सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here