आम इंसान की जेब पर महंगाई की मार, महंगा हुआ आटा, 12 साल बाद कीमतों ने तोड़ा रिकॉर्ड

इन दिनों सभी चीज़ें महंगी (expensive) होती जा रही है। आम आदमी की जेब पर महंगाई (Dearness) का सीधा असर देखने को मिल रहा है।

इन दिनों सभी चीज़ें महंगी (expensive) होती जा रही है। आम आदमी की जेब पर महंगाई (Dearness) का सीधा असर देखने को मिल रहा है। रसोई गैस और पेट्रोल डीजल के बाद अब किचन में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली खास चीज़ के भाव बढ़ा दिए गए है। जी हां आटे की कीमत में बढ़ोतरी हुई है। जिसकी वजह से आम इंसान की जेब का बजट बिगड़ गया है।

Must Read : मां बनने के बाद पहली बार सामने आया Kajal agarwal का हॉट लुक, देखें Photo

अभी तक देश में आटे की कीमत मूल्य अप्रैल में 32.38 प्रति किलोग्राम पर आ गया। जो 12 साल बाद रिकॉर्ड ऊंचाई स्तर पर है। 2010 जनवरी के बाद आटे में सबसे ज्यादा उछाल 2022 के अप्रैल महीने में देखा गया है। इसके पीछे की वजह ये है कि गेहूं के उत्पादन और स्टॉक में कमी आई है। अनुमान लगाया जा रहा है कि साल 2022-23 में गेहूं का उत्पादन 1050 एलएमटी को छू लेगा।

इस वजह से आसमान छू रही आटे की कीमत –

साल 2022 के मार्च में भारत में 70 एलएमटी गेहूं का निर्यात किया गया था। ऐसे में आगे वाले समय में भी इसका निर्यात अधिक होने का अनुमान है। ये इसलिए क्योंकि रूस-यूक्रेन की लड़ाई ने आपूर्ति की कमी पैदा कर दी है। जिसकी वजह से घरेलु चीज़ों के दाम में बढ़ोतरी की जा रही है। ऐसे ही गेंहू की कीमत में भी उछाल आया है। अप्रैल 2022 में आटे की कीमत में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी देखी गई है।

गेहूं की खुदरा कीमत –

मार्च 2022 में 28.67 रुपए प्रति किलोग्राम हुई जो 2021 में 27.90 थी।

आटा की खुदरा कीमत –

2022 में 32.03 रुपए प्रति किलोग्राम हुई जो 2021 में 31.77 रुपए थी।