Breaking News

इंडस हेल्थ प्लस ने वाहनों से प्रदूषण और स्वास्थ्य पर पड़ने वाले उसके दुष्परिणामों के जन जागरूकता अभियान चलाया

Posted on: 09 Jun 2018 05:27 by Ravindra Singh Rana
इंडस हेल्थ प्लस ने वाहनों से प्रदूषण और स्वास्थ्य पर पड़ने वाले उसके दुष्परिणामों के जन जागरूकता अभियान चलाया

इंदौर: प्रीवेंटिव हेल्थकेयर के क्षेत्र में अग्रणी, इंडस हेल्थ प्लस ने एक जन जागरूकता अभियान चलाया। इस अभियान का लक्ष्य गाड़ी चलाने वालों एवं ट्रैफिक पुलिस को वायु प्रदूषण कम करने और पर्यावरण को स्व च्छ , सेहतमंद एवं हरा-भरा बनाये रखने के लिए प्रोत्सा हित करना है।इस अभियान का लक्ष्य लोगों को इस बात के लिये प्रेरित करना है कि जब तक सिग्नल पर हरी बत्ती ना जल जाये तब तक इग्निशन को बंद रखें। साथ ही इस अभियान में लोगों से आग्रह किया गया है कि बहुत ज्यादा हॉर्न का प्रयोग ना करें, इससे ध्वनि प्रदूषण बढ़ता है। ऐसा करने से हम जिस वातावरण में रह रहे हैं वह स्वस्थ बना रहता है और सेहत पर वायु प्रदूषण के दुष्परिणामों से बचाव होता है।

Photo 5

इंडस हेल्थ प्लस के इस जागरूकता अभियान का आयोजन पलासिया सिग्नल पर सबसे ज्यादा ट्रैफिक वाले समय पर, सुबह 9 बजे और सुबह 10.30 बजे किया गया। प्रतिभागियों ने गाड़ी चलाने वालों को तख्तियों के माध्यम से इस बारे में समझाया कि प्रदूषण को रोकने के लिये कदम उठाने की जरूरत है। प्रदूषण के कारण पर्यावरण नष्ट हो रहा है। इसके अलावा, उन्होंने लोगों को ट्रैफिक की बत्ती लाल होने के दौरान इस बारे में भी जानकारी दी कि किस तरह प्रदूषण उनकी सेहत को प्रभावित कर रहा है। कई जिम्मेदार नागरिकों को जिन्होंने गाड़ी का इग्निशन बंद कर दिया और हॉर्न नहीं बजाया, उनकी तारीफ की गई और उन्हें बैज दिये गये।

Photo 1

इस अभियान के बारे में, इंडस हेल्थ प्लस के ज्वाेइंट मैनेजिंग डायरेक्टर श्री अमोल नायकवाड़ी ने कहा, ‘‘वायु प्रदूषण के कारण दिल की बीमारियों, सीओपीडी, हाइपरटेंशन और ईएनटी से जुड़ी समस्याओं में काफी बढोतरी हुई है। साथ ही विश्व में यह कई सारी गैर-संक्रमणकारी, जानलेवा बीमारियों का भी कारक होता है। एक अध्ययन के मुताबिक, 2015 में 2.51 मिलियन मौतें हुई, जिनमें भारत प्रदूषण संबंधी मौतों की सूची में पहले नंबर पर रहा। प्रदूषण एक ऐसी चीज है, जिसका उपचार एक बार में नहीं किया जा सकता, लेकिन इस तरह के जागरूकता अभियानों से उससे बचाव किया जा सकता है। एक जिम्मेदार कंपनी होने के नाते, हम जागरूकता फैलाना और एक सेहतमंद पर्यावरण बनाना अपना कर्तव्य समझते हैं।”

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com